27 मई को हर वार्ड में मनाया जायेगा शहरी आयुष्मान भारत दिवस

0
Urban Ayushman Bharat Divas will be celebrated in every ward on May 27.
27 मई को हर वार्ड में मनाया जायेगा शहरी आयुष्मान भारत दिवस

27 मई को हर वार्ड में मनाया जायेगा शहरी आयुष्मान भारत दिवस
Newsline 24×7 – May 25, 201807

महरौनी/ललितपुर (ब्यूरो)- सरकार द्वारा गरीब परिवारों के निशुल्क बेहतर इलाज हेतु आयुष्मान भारत योजना का लाभ केवल गांवों में ही नहीं बल्कि शहरी व कस्बाई क्षेत्रों में भी मिल सकेगा। इसी संबंध में शुक्रवार दोपहर नगर पंचायत कार्यालय महरौनी में एक बैठक का आयोजन किया गया, जिसमें चिकित्सा अधीक्षक डा.राजेश वर्मा और नगर पंचायत अधिशाषी अधिकारी मधुसूदन जायसवाल की प्रमुख मौजूदगी रही।

इस अवसर पर बताया गया कि आगामी 27 मई को नगर के सभी वार्डों में शहरी आयुष्मान भारत दिवस का आयोजन किया जाएगा। इसके लिये हर वार्ड में निर्धारित स्थलों पर बैठकों का आयोजन होगा और इस योजना के बारे में लोगों को विस्तृत जानकारी भी दी जायेगी। 28 मई से 3 जून तक सूची अपडेशन का कार्य आशा, आंगनबाडी द्वारा किया जाएगा। नोडल अधिकारी डा. राजेश वर्मा ने बताया कि प्रत्येक वार्ड में होने वाली बैठक का माइक्रोप्लान तैयार किया जा चुका है।

सभी वार्ड के अलग अलग नोडल तैयार किये गये हैं जो अपने अपने हाउसहोल्ड की पहचान करेंगे।महरौनी के 1 से लेकर सभी 10 वार्डों में 686 लाभार्थी परिवार लिये गये हैं। 27 तारीख को आयुष्मान दिवस के तहत खुली बैठक में उन सभी लाभार्थियों की सूची प्रदर्शित की जाएगी जो शहरी आयुष्मान भारत योजना के तहत चिन्हित हैं। इस सूची में उन परिवारों को लिया गया हैं, जो सामाजिक आर्थिक जातीय जनगणना 2011 की सूची में चिन्हित किए गए थे। बैठक में चिन्हित लाभार्थियों को अपना राशन कार्ड और एक मोबाइल नंबर के साथ आना होगा, जिससे उनकी पहचान की जा सके। यदि कोई लाभार्थी इस बैठक में नही पहुच पाता है तो संबंधित आशा को उन शेष लाभार्थियों के घर घर जाकर एक हफ्ते के भीतर उनकी पहचान करनी होगी।

बताया गया कि इस योजना का उद्देश्य देश के आर्थिक रूप से कमजोर लोगों की सहायता करना है। आयुष्मान योजना से सीधा फायदा एक करोड परिवारों को मिलने वाला है। जिसमें प्रदेश के लगभग 1•18 करोड परिवार इस योजना से लाभान्वित होंगे। इस राष्ट्रीय स्वास्थ्य योजना संरक्षण के तहत 1 करोड गरीब परिवारों को बेहतर इलाज के लिए प्रत्येक परिवार को प्रति वर्ष 5-5 लाख रुपये तक का स्वास्थ्य बीमा कवर उपलब्ध कराया जाएगा। बैठक में नगर पंचायत के सभी पार्षद, गणमान्य नागरिक मौजूद रहे । योजना का लाभ क्या वास्तव में मिल पायेगा जरूरतमंदों को

सूची में है पात्रों से ज्यादा अपात्रों की भरमार
आयुष्मान भारत योजना के तहत लाभार्थियों की जो सूची बनी है वह सामाजिक आर्थिक जातीय जनगणना 2011 के आधार पर बनाई गयी है, जिस की विश्वसनीयता पर प्रश्नचिन्ह लगते आ रहे हैं । प्रधानमंत्री आवास की सूची भी उसी डेटा के आधार पर बनी थी।जिसमें अनेक पात्र गरीब व्यक्तियों की जगह अनेक अपात्रों को आवास बांट दिये गये। उस सर्वे के समय जिन्हें पात्र /गरीब/आवासहीन दर्शाया गया था,वास्तव में अभी वह इस श्रेणी में हैं ही नहीं।

सर्वे में अधिकांश निर्धन पात्र परिवार या तो छोड़ दिए गये या उन्हें अमीर दर्शाया गया,जिससे वह पात्र नही रह गये।
सरकार की महात्वाकांक्षी आयुष्मान भारत योजना का हाल भी यही होने वाला है कि इसमें अधिकांश पात्र परिवार वंचित होंगे और अपात्र परिवार इसका लाभ लेंगे। अभी से नजर आ रहा है कि इस सूची में अनेक ऐसे नाम शामिल हैं जो वास्तव में पात्रता की श्रेणी में ही नहीं है बल्कि वह साधन संपन्न सक्षम लोग हैं।

ऐसे में सरकार को पात्र परिवारो के चिन्हीकरण का अभियान चलाना चाहिए जिससे छूटे हुये निर्धन व वास्तविक जरूरतमंद परिवारो को सम्मिलित किया जा सके व अपात्रो की छंटनी की जा सके। पात्र परिवारो को जोड़ने के लिये सरकार ने आदेश भी जारी किये थे लेकिन जो सूची बनकर गयी वह अभी तक जुडी ही नही, क्योंकि जुड़ना भारत सरकार से है जो आसानी से सम्भव नही है। ऐसे में सरकार की इस योजन

ा का लाभ भी गरीबों को मिलने से रहा और सरकार के दावे खोखले रह जायेंगे

रिपोर्ट हरीराम पाल महरौनी( पथराई)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

− 1 = 1