सभी कौम के गुरूओं को राखी बांधकर लिया आर्शीवाद

0

रक्षा बंधन पर समाजसेविका ने दिया सर्वधर्म सद्भाव का संदेश

छतरपुर

भाई बहिन के अटूट प्रेम और स्नेह का प्रतीक रक्षा बंधन का पर्व प्राचीन काल से प्रचलन में है और इस त्यौहार को सभी धर्म के लोग पूरे हर्षोल्लास के साथ मनाते आ रहे है लेकिन आधुनिकता के इस दौर में और कुछ मौका परस्त लोगों के कारण सर्वधर्म सद्भाव की भावना कुछ धूमिल हुई है जिसे एक बार फिर जिंदा करने के मकसद से समाजसेवी श्रीमति नीलम शुक्ला पांडे ने रक्षा बंधन पर्व एक अलग ही अंदाज में मनाया, उनके द्वारा हिन्दू, मुस्लिम, सिख, ईसाई सभी धर्मों के स्थलों पर जाकर वहां पर मिले गुरूओं को रक्षासूत्र बांधकर सर्वधर्म सद्भाव का संदेश देते हुए आर्शीवाद लिया और ईश्वर से प्रार्थना की कि पूरे देश में ऐसा भाई चारा नजर आए कि सब एक-दूसरे के त्यौहार मनाएं और प्रेम के साथ रहें।

श्रीमति नीलम शुक्ला सबसे पहले मंशा देवी मंदिर पहुंची, यहां पर उनके द्वारा पूजा अर्चना करने के बाद वहां के पुजारी गर्ग काका जी को राखी बांधकर आर्शीवाद लिया, इसके बाद न्यू कालौनी में स्थित जलाल शाह बाबा की दरगाह पर पहुंची, यहां पर मत्था टेककर श्रीमति शुक्ला ने मजार के खादिम उमरू बाबा को राखी बांधी। शहर के महोबा रोड स्थित चर्च पर सिस्टर लिंस और अनिस जैकप को रक्षा सूत्र बांधकर प्रेयर की और आखिरी में गुरूद्वारे पहुंची जहां पर हेड ग्रंथी सोहन सिंह जी को राखी बांधकर सुख समृद्धि और आपसी भाईचारा बना रहे की प्रार्थना की। उक्त अवसरों पर सभी धार्मिक स्थलों पर मिले गुरूओं के मुख से एक ही वाणी निकली कि मजहब नही सिखाता आपस में बैर रखना,  सभी धर्म शांति और सद्भाव के रास्ते पर चलने की सीख देते है।

Surendra pateriya

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

− 2 = 6