इस नए साल में जहां लोग नई-नई कारें खरीदना पसंद करते हैं तो वही काफी लोग सेकंड हैंड कार खरीदने में भी दिलचस्पी दिखाते हैं। सेकंड हैंड कारों को ऐसे लोग ज्यादा खरीदते हैं जिनका बजट कम होता है या फिर वो लोग जो गाड़ी चलाना सीख रहे होते हैं। खैर इस रिपोर्ट में हम आपको बता रहे हैं कि सेकंड हैंड कार खरीदते समय किन बातों का सबसे ज्यादा ध्यान रखें

ऑनलाइन कार खरीदने में मिलेगा फायदा
आजकल ऑनलाइन कार खरीदने और बेचने का ट्रेंड हैं, अगर आप ऑनलाइन कार खरीदने का मन बना रहे हैं तो आपको यहां कई ऑप्शन मिल जायेंगे। अपने बजट के हिसाब से गाड़ी का चुनाव कर सकते हैं सब कुछ जानने के बाद आप दिए गये नंबर्स पर बात करके आगे की प्लानिंग आकर सकते हैं।

वेबसाइट पर कार फाइनल करें 
अगर अपने किसी वेबसाइट पर पुरानी कार पसंद कर ली है तो उसी वक़्त उसे खरीदने से पहले उसकी टेस्ट ड्राइव जरूर करें ताकि आपको कार का सही अंदाजा लग सके। यह भी देखें की कही कार में कोई रिपेयर का काम तो नहीं हुआ।

बंद हुआ मॉडल लेने से बचें 
ऑनलाइन कार सर्च करते समय यह भी देखें कि जो मॉडल आप फाइनल कर रहे हैं क्या वह बंद तो नहीं हुआ, या बंद होने वाला हो, अक्सर ऐसे मॉडल्स की कीमत कम रहती है मार्किट में। दूसरी बात, जो भी मॉडल बंद हो जाते हैं उनके पार्ट्स मार्किट में आसानी से नहीं मिल पाते जिसकी वजह से कई बार दिक्कत हो जाती है सर्विस के दौरान।

गाड़ी के सभी डॉक्युमेंट्स ध्यान से चेक करें 
गाड़ी के सभी डॉक्युमेंट्स को ठीक से चेक करें, इसके अलावा जिस कार को आप खरीद रहे हैं उसका इंश्योरेंस है या नहीं, यह भी जान लेना बेहद जरूरी है। साथ ही प्रीमियम सही टाइम पर भरा गया है या नहीं इस बात की भी पुष्टि करें। इसके अलावा इंश्योरेंस पेपर्स आपके नाम से ट्रांसफर हो जाए। इस बात पर भी गौर करें। साथ ही रोड टैक्स के पेपर्स चेक करें और ओरिजिनल इनवॉयस की भी मांग करें।

ये है पुरानी कार खरीदने का सही समय
वैसे तो जब आपकी जरूरत है तभी आपको कार लेनी चाइये लेकिन अगर आप सही तरीके से प्लान करके का कार खरीदते हैं तो आपको काफी बचत हो सकती है, जैसे कार खरीदने का सही समय कौन सा है ? दोस्तों साल खत्म होने से पहले यदि पुरानी कार खरीदते हैं तो आपको अच्छी डील मिल सकती है। क्योकिं साल खत्म होने के बाद मॉडल पुराना हो जाता है और री-सेल वैल्यू भी गिरती है।

ऑटो एक्सपर्ट की एक्सपर्ट:
ऑटो एक्सपर्ट टूटू धवन की माने तो पुरानी कार कहीं से भी खरीदो लेकिन उसकी हिस्ट्री जरूर चेक कर लें क्योकिं कई बार इसका बाद में चलता है जिसकी वजह से ग्राहक को नुकसान उठाना पड़ सकता है। गाड़ी की बैट्री, विंडो, वाइपर, सस्पेंशन, ब्रेक्स, डिस्क ब्रेक ऑयल, व्हील एलाइनमेंट को ठीक से जांचे।गाड़ी के एक्सेल और शोकर्स को भी चेक कर लें। अगर ऑयल लीकेज की समस्या है दिखाई दे रही है तो इस तरह की कार लेने से बचें।गाड़ी खरीदते समय इसके टायर्स की जांच कर लें। टायर यदि ज्यादा घिसे हैं तो समझ जाएं कि गाड़ी या तो ज्यादा चली है या फिर खराब रास्तों पर चलाई गयी है। और यह भी देख लेना चाहिए कि जिस कंपनी की कार आप ले रहे हैं, उसके सर्विस सेंटर ज्यादातर जगहों पर हैं या नहीं।

 

 

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

− 1 = 1