प्‍लास्‍ट‍िक बंदी में आज से होगी सख्‍ती, बीएमसी ने कार्रवाई की तेज

0

मुंबई
सोमवार को कामकाजी सप्ताह की शुरुआत के साथ ही महाराष्ट्र में प्लास्टिक बंदी की पहली परीक्षा होगी। शनिवार से लागू हुई प्लास्टिक बंदी का पूरा असर सप्ताहांत के दो दिन अवकाश होने के कारण नहीं दिख पाया था। हालांकि, रविवार को बृहन्‍मुंबई महानगरपाल‍िका (बीएमसी) ने प्लास्टिक का उपयोग करने वालों पर कार्रवाई तेज कर दी।

चेंबूर इलाके में 867 दुकानों की जांच में 86 जगहों पर प्लास्टिक का उपयोग पाया गया। इनसे जुर्माने के रूप में करीब 4 लाख रुपये वसूले गए। जुर्माना न चुकाने वाले 8 दुकानदारों पर मामला दर्ज कराया जा रहा है, जिन्हें अब अदालत में पेश होना होगा। राहत की बात यह है कि जांच में केवल 10 प्रतिशत के पास ही प्लास्टिक उत्पाद मिले। इससे साफ है कि मुंबईकर प्लास्टिक के विकल्पों की ओर से तेजी से बढ़ रहे हैं। ठाणे, नवी मुंबई, कल्याण, मीरा-भाईंदर, वसई और भिवंडी समेत पूरे महाराष्ट्र में सोमवार से कार्रवाई तेज होगी।

जोर पकड़ेगी कार्रवाई
सोमवार से मुंबई के विभिन्न इलाकों में मॉल, दुकानों, उत्पादकों और कारोबारियों की जांच की जाएगी। प्लास्टिक का उपयोग करते पाए जाने पर उनसे जुर्माना वसूल किया जाएगा। बीएमसी के 249 इंस्पेक्टर ड्रेस कोड में विभिन्न जगहों की जांच करेंगे। इन इंस्पेक्टरों के पास विशेष पहचान पत्र भी होगा। बाजार विभाग की जिम्मेदारी संभाल रही डॉ. संगीता हसनाले ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि सोमवार से हम पूरी मुंबई में कार्रवाई करेंगे।

महाराष्ट्र में प्लास्टिक बैन लागू

महंगे हुए वैकल्पिक उत्पाद
प्लास्टिक उत्पादों के विकल्पों की भारी मांग के बीच तमाम वैकल्पिक उत्पादों के दामों में भारी वृद्धि हो गई है। कागज का बैग लेने वाले दुकानदार महेश शर्मा ने बताया कि पहले हम कागज के बैग का एक बंडल 40 रुपये में लेते थे, जो अब 80 रुपये में मिल रहा है। विभिन्न विकल्पों से बने उत्पादों के दाम भी प्लास्टिक की तुलना में दो से तीन गुना हैं। इसीलिए इनके इस्तेमाल में दुकानदार हिचक रहे हैं।

बेंगलुरु में प्राकृतिक रूप से नष्ट होने वाली थैलियां बनाने वाले व्यापारी और उनके मुंबई स्थित वितरक के दामों में 100 रुपये प्रति किलो का अंतर है। अनुमान के मुताबिक, मुंबई में करीब रोज 5,000 टन प्लास्टिक की खपत होती है, जिनकी वैकल्पिक व्यवस्था कर पाना काफी मुश्किल नजर आ रहा है।

व्यापारियों की बैठक
व्यापारियों के विभिन्न संगठन प्लास्टिक बंदी पर आगे की रणनीति बनाने के लिए मंगलवार को विशेष बैठक करेंगे। इसमें प्लास्टिक बंदी के व्यापक असर और उपायों पर चर्चा की जाएगी। बुधवार को उच्च-स्तरीय बैठक में कुछ ठोस फैसला किए जाने की उम्मीद लगाई जा रही है।

बैन के उल्लंघन पर देना होगा जुर्माना

बारिश से बढ़ी परेशानी
प्लास्टिक बंदी ऐन मॉनसून में लागू किए जाने की वजह से भी लोगों की दिक्कतें बढ़ गई हैं। बारिश में ज्यादातर सामानों को बचाने के लिए प्लास्टिक का ही इस्तेमाल किया जाता है। ऐसे में, प्लास्टिक बंदी शुरू करने से ज्यादातर लोगों में नाराजगी है।

विकल्पों का इस्तेमाल शुरू
काफी दुकानदारों ने विकल्पों का इस्तेमाल शुरू किया।
आइस्क्रीम खाने के लिए हर जगह लकड़ी की चम्मच।
कई होटेल्‍‍‍स में पार्सल देने से इनकार
नारियल पाने वाले नहीं दे रहे स्ट्रॉ।
बड़ी दुकानों में कागज की थैलियों का इस्तेमाल शुरू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

− 1 = 1