समाजवादी पार्टी कार्यकर्ताओं ने महामहिम राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन उपजिलाधिकारी को सौंपा

0
मड़ावरा उपजिलाधिकारी हेमेन्द्र कुमार काण्डपपाल को ज्ञापन सौंपते हुए मड़ावरा समाजवादी पार्टी कार्यकर्ता।
  • गरीब, कमजोर, दलित, पिछडो के साथ हो रहा है अत्याचार
  • मीडिया की स्वतंत्र आवाज को भी किया जा रहा है दबाने का कार्य
  • किसान, मजदूर, नौजवानों के भविष्य के साथ हो रहा है खिलवाड़

मड़ावरा (ललितपुर)।

महामहिम राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन विभिन्न समस्याओं का ज्ञापन समाजवादी पार्टी कार्यकर्ताओं द्वारा उपजिलाधिकारी मड़ावरा हेमेन्द्र कुमार काण्डपपाल को सौंपा गया। महामहिम राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन में समाजवादी पार्टी कार्यकर्ताओं ने उल्लेख किया है कि आर.एस.एस. का एजेंडा जातिवाद एवँ साम्प्रदायिकता के कारण समाज को तोड़ने वाला है।

भाजपा सरकार में आपातकाल जैसे हालात पैदा हो गये हैं। बाबा साहब के संविधान के साथ प्रतिदिन हमले हो रहें हैं। गरीब, कमजोर, मजदूर, दलित, पिछड़े, अल्पसंख्यकों के साथ अत्याचार हो रहें हैं, मेहनतकश किसानों के साथ सौतेला व्यवहार हो रहा है। प्रदेश में चौतरफा महिलाओं, बहन, बेटियों के साथ दुष्कर्म, तथा हत्यायें जैसे अपराधों की बाढ़ सी आ गयी है। बेटी बचाओ, बेटी पढाओ का नारा देने वाली सरकार पूरी तरह विफल है। लोकतंत्र के चौथे स्तम्भ मीडिया की स्वतंत्रता को भी कुचलने का प्रयास किया जा रहा है। अखिलेश यादव की सरकार में जिन नौजवानों को रोजगार मिला था उसे अब छीना जा रहा है, लाखों लोग बेरोजगार हैं दर दर की ठोकरें खाने को मजबूर हैं। रोजगार मांगने वालों को सरकार लाठी व गोली का शिकार बना रहीं हैं, फर्जी मुकदमे में जेल भेजा जा रहा है। किसानों को अपने फसलों का नुकसान मांगने में भी अपमानित होना पड़ रहा है।
महंगाई की मार से लोग परेशान हैं पेट्रोल की क़ीमत 80 के पार हो गई है तो वहीं गैस की कीमत 877 रुपये प्रति सिलेंडर तक हो गई है जो कि आम आदमी की पहुँच से दूर होती जा रही हैं। मोरंग, बालू, गिट्टी के महंगे दाम पर बिक रही है। बिद्युत दामों में बृद्धि, रोजगार का अभाव, बाढ़ पीड़तों को राहत व्यवस्था न् करना, शिक्षामित्रों, आंगनबाड़ी कार्यकत्री, आशाबहुओं का उत्पीड़न, सैकड़ों नवजवान, किसान आत्महत्या कर चुके हैं किन्तु सत्ता के नशे में चूर भाजपा सरकार संवेदन शून्य हो गई है। प्रदेश में कानून व्यवस्था ध्वस्त है माननीय उच्चतम न्यायालय एवं सर्वोच्च न्यायालय को बार बार टिप्पणी करनी पड़ रही है फिर भी सरकार गूंगी बहरी बनी हुई है। नारी निकेतनों में भारी अनियमितता है तथा भ्रष्टाचार हावी है। विश्वविद्यालयों में बेतहाशा छात्रों की फीस बृद्धि कर दी गई है। संबिधान में प्रदत्त आरक्षण की व्यवस्था में छेड़छाड़ करना, सड़कों को गड्ढा मुक्त करने के नाम पर घोटाला, मेधावी छात्रों को लैपटॉप बन्द करना, गरीब महिलाओं की समाजवादी पेंशन बन्द करना आदि समस्याओं के समाधान की मांग महामहिम राज्यपाल से की गयी है।
इस दौरान गौरीशंकर सोनी पूर्व ब्लॉक प्रमुख, वीर सिंह बुंदेला ब्लॉक अध्यक्ष सपा मड़ावरा, आदेश पटेरिया, सुनील परिहार, शेर सिंह, तोमर, मनोज खटीक निर्भान सिंह यादव, ब्रगभान सिंह यादव, सामंत सिंह, सौरभ यादव, अंगद पटेल, अतुल यादव, खूबचंद सेन, राजपाल गन्धर्व, महेश परिहार, गोलू पंडित, राजू कुशवाहा समेत भारी संख्या में समाजवादी पार्टी कार्यकर्ता मौजूद रहे।
रिपोर्ट- मानसिंह, मड़ावरा, ललितपुर।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

75 − = 65