बाजार लगाने के विवाद में हुआ खूनी संघर्ष,एक दर्जन लोग घायल

0

सीतापुर

बाजार लगाने के बिवाद को लेकर दो गाँवों के लोगों के बीच शनिवार देर रात हुई मार पीट में एक दर्जन से अधिक लोग घायल हो गई। कई घायलों को जिला अस्पताल रेफर किया गया। दो लोगों की हालत गम्भीर बनी हुई है।बाजार लगाने के बिवाद को लेकर दो गाँवों के लोगों के बीच शनिवार देर रात हुई मार पीट में एक दर्जन से अधिक लोग घायल हो गई। कई घायलों को जिला अस्पताल रेफर किया गया। दो लोगों की हालत गम्भीर बनी हुई है।  

प्राप्त जानकारी के अनुसार शनिवार रात करीब 9.30 बजे संदना थाना क्षेत्र के गोंदलामऊ चौराहे पर स्थित गोंदलामऊ निवासी रमेश उर्फ गुल्लू गुप्ता पुत्र श्याम की दुकान पर क्षेत्र के ग्राम पंचायत पट्टी नेवादा के प्रधान दिवाकर सिंह अपने एक अन्य साथी के साथ सराब पी रहे थे। काफी नसे की हालत में चौराहे के दुकानदारो को पट्टी बाजर में हुए बिवाद को लेकर गोदलामऊ गाँव के सभी लोगों को गालिया देने लगे। जिस पर गोंदलामऊ निवासी खुसीराम पुत्र रामकुमार ने विरोध किया तो उस की बुरी तरह पिटाई कर दी और उस की दुकान का काऊन्टर तोड डाला। जिस के बाद प्रधान ने अपने गाँव पट्टी में फोन कर के पट्टी गाँव निवासी अनिल सिंह पुत्र सुरेन्द्र,सतीष पुत्र सोनू पुत्र श्री पाल सिंह,सत्यपाल उर्फ पिन्टू पुत्र जयपाल सिंह सहित दर्जनों लोग को बुलाया गया जो लोग लाठी डंडो से लैस हो कर चौराहे पर पहुचे और चौराहे पर मौजूद गोंदलामऊ के बब्बन पुत्र सनाउल्ला, श्रीराम पुत्र सुन्दर, सब्बू पुत्र सनाउल्ला,सेरू पुत्र बब्बन, महसूद उर्फ मुन्ना पुत्र मजूर अहमद, सरीफ पुत्र गफ्फार खां, असफाक पुत्र इरसाद खाँ,खुसीराम पुत्र रामकुमार, सकटू पुत्र राम कुमार आदि लोगों पर लाठियां भांजने लगे जिस में यह सभी लोग गम्भीर रूप से घायल हो गए। इस सभी घायलों के सर पर छोटे आई है। वही गोंदलामऊ के प्रधान असफाक के ट्रैक्टर को आग के हवाले कर दिया गया। घटना की सूचना पर पहुची पुलिस ने सभी घायलों को सीएचसी गोंदलामऊ में भर्ती कराया गया है। जहाँ श्रीराम पुत्र सुन्दर व खुसीराम पुत्र रामकुमार की हालत बिगडती देख डाक्टरों ने उन्हे जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया है। वही स्थानीय पुलिस ने घटना की जानकारी पुलिस अधिकारियों को दी गयी है।

बाजर में एक दुकानदार को पीटने के बाद से दोनो गाँव के लोगो के बीच चल रहा था विवाद

संदना थाना क्षेत्र के पट्टी गाँव में स्थित बाजार में 5 जून को गोंदलामऊ निवासी बुद्धा मौर्या पुत्र बाबू मौर्या जो सब्जी की दूकान लगाये हुए था जिसको पट्टी गाँव निवासी अजय पाल सिंह ने सब्ज़ी खरीदते समय मोलभाव करने को लेकर बुद्धा की पिटाई कर दी थी जिस के बाद गोंदलामऊ गाँव के सभी व्यापारी व गाँव के लोग पट्टी की बाजार जाना बन्द कर दिये थे जिस के कारण पट्टी की बाजार बन्द हो गई थी। जिस के बाद दोनो गाँवो के लोगो के बीच बिवाद होने की स्थित बन गई थी। जिस को लेकर दोनो गाँव के लोग 8 जून को गोंदलामऊ पुलिस चौकी पर गए जहाँ चौकी प्रभारी संदीप कुमार शुक्ला के सामने यह फैसला हुआ था कि पट्टी में जो तीन दिन रविवार,मंगलवार व गुरूवार जैसे बाजार लग रही थी लगती रहे,और गोंदलामऊ में सातों दिन बाजार लगेगी। जिस के बाद से गोंदलामऊ में प्रतिदिन बाजार लगने लगी। जिस के बाद से पट्टी गांव की बाजार धीरे धीरे बन्द होती जा रही थी। जिस को लेकर पट्टी नेवादा गाँव के वर्तमान प्रधान दिवाकर सिंह व पूर्व प्रधान शत्यपाल उर्फ पिन्टू सिंह सहित गाँव के कई लोगों द्वारा व्यापारियों को पट्टी बाजार में दुकाने लगाने को लेकर लगातार दबाव बनाया जा रहा था। रविवार व गुरूवार को यह लोग गोंदलामऊ चौराहे पर आकर व्यापारियों को धमकाया करते थे। लेकिन गोंदलामऊ का कोई भी व्यापारी व लोग पट्टी बाजार को नही जा रहे थे जिस के कारण पट्टी की बाजार बन्द होने की कगार पर थी इसी को लेकर गोंदलामऊ के व्यापरियों को जान माल की धमकिया दी जाने लगी। इस मामले की जानकारी बार बार गोंदलामऊ के व्यापारियों द्वारा गोंदलामऊ चौकी प्रभारी व संदना थानाध्यक्ष को दी जा रही थी। लेकिन पुलिस ने इस मामले को गम्भीरता से नही लिया गया। जिस के कारण यह बडी घटना घटित हुई और इस घटना के बावजूद पुलिस अधिकारियों द्वारा सख्त कदम न उठाने पर भविष्य में भी किसी बड़ी घटना के होने

रिपोर्ट अरूण कुमार राज

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

71 − 68 =