बरगद का वृक्ष रोपण कर विदा हुई दुल्हन

0

पर्यावरण रक्षा के लिए उठाया यह कदम

दिनांक 24 मई 2019 को माता प्रसाद पाल,बारघाट प्रतापगढ़ के पुत्र पंकज पाल और
श्री राजपति पाल चांदा इन्दौली की सुपुत्री प्रियंका पाल का नाम इतिहास के पन्नों में स्वर्णिम अक्षरों में दर्ज हुआ

धनगर विनय पाल मस्ताना और दिनेश पाल (मानव) की अगुवाई में प्रथम बार
वीरांगना लोकमाता न्याय की देवी महारानी अहिल्या बाई होल्कर,और पाल वंश के संस्थापक राजा गोपाल पाल, एवं वीर योध्या मल्हार राव होल्कर,जी को और प्रांगण में उपस्थित समाज के महानुभावों को साक्षी मान कर पंकज एवम प्रियंका ने अपना जीवन निर्वाह करने के लिए नए पथ पर चलने को तैयार हुए

अपने विवाह को यादगार पलों में परिवर्तित करने के लिए, और पर्यावरण को सुरक्षित और सुंदर बनाने के लिए प्राथमिक विद्यालय के प्रांगण में बरगद के वृक्ष का रोपण कर विदा लिया।
और समाज के हर विवाहित, नव विवाहित, जोड़े से पर्यावरण संरक्षण के लिए वृक्षा रोपण की अपील की।
इस शादी के गवाह बने, माननीय राजेन्द्र प्रसाद पाल जी (प्रदेश अध्यक्ष अपना दल ), माननीय विनय पाल मस्ताना जी (प्रदेश उपाध्यक्ष दिल्ली होलकर सेना), माननीय विवेक पाल टाइगर जी (राष्ट्रीय महासचिव होलकर सेना), डॉ अंशुमान सिंह पाल जी (संस्थापक स्टेप केयर फाउंडेशन, क्रांति उदय),
रवि पाल जी (उत्तर प्रदेश पुलिस), राकेश पाल जी (प्रवक्ता होलकर सेना यूपी.) और सभी बाराती

जितेंद्र कुमार पाल प्रतापगढ़

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

77 − = 67