मुम्बई में रिक्शाचालकों का मीटर घोटाला

2
मुम्बई में रिक्शाचालकों का मीटर घोटाला

मुम्बई में रिक्शाचालकों का मीटर घोटाला
दक्ष नागरिक का फायदा क्या है यह इस प्रकरण से पता चलता है
जोगेश्वरी पूर्व के जनता जागृति मंचके सदस्य सचिन खेतले ने रोज की तरह अपने कार्यालय जाने के लिए अपने निवास कपुरबावड़ी थाने से एक रिक्शा ली और कांजुरमार्ग यहाँ पहुचने तक उनके ध्यान में आया कि रोज यहां तक पहुचने पर रिक्शा का मीटर अंदाजे रुपये १००/- होता है परन्तु आज वही रुपये १४०/- दिखा रहा था
तब उन्होंने रिक्शाचालक की हरकतों पर ध्यान देना सुरु किया तो उन्होंने देखा कि चालक वारंवार स्टीयरिंग के बाई और नीचे की तरफ लगाए गए एक बटन को बीच बीच मे दबा रहा है तब उन्होंने कौतुलहवश उस चालक से उसकी वजह जाननी चाही परन्तु चालक ने समाधानकारक उत्तर नही दिया तब तक रिक्शा मुम्बई के जोगेश्वरी के श्यामनगर तक पहुँच चुकी थी और सचिन के ध्यान में आया मीटर रुपये ३६०/- दिखा रहा है जबकि रोज यही तक का किराया रुपये ३००/- तक होता है |

मीटर बढ़ाने का चोर बटन

तब सचिन ने जनता जागृति मंच के  शिवाजी खैरनार को फोन कर इस वाकया को बताया तो खैरनार अपने कार्यकर्ताओं के साथ तय स्थान पर उस रिक्शा को रुकवाया और चालक से मीटर बढ़ने का कारण पूछा उन्होंने चालक को इस घटना की तकरार पुलिस में करनेकी साथ ही जो वीडियो सचिन ने बड़ी चालाकी से अपने मोबाइल में ली थी उसे सोशल मीडिया में वायरल करने की बात काही तो चालक सकपका गया|
लेकिन खैरनार को एहसास हुआ कि यह तो एक प्रकरण है आपूति ऐसा और कितने रिक्शा चालक करते होंगे और यात्रियों से अतिरिक्त भाड़ा वसूलते होंगे तो उन्होंने इस घटना की तकरार स्थानिक मेघवाडी पुलिस स्टेशन में देनी चाही तो वरिष्ठ पुलीस अधिकारी ने उन्हें वाहतूक पुलिस में इसकी शिकायत दर्ज करने की सलाह दी जिसके बाद खैरनार ने वरिष्ठ वाहतूक पुलिस अधिकारी थोरात से सम्पर्क किया जिन्होंने खैरनार को जोगेश्वरी हाइवे के पास बालासाहब ठाकरे ट्रामा सेंटर के बगल में स्तिथ वाहतूक पुलिस चौकी पर तैनात पुलिस अधिकारी अरुण आव्हाड से मिलकर उचित कानूनी कार्यवाही करने की सलाह दी |

स्टीयरिंग के बाई और नीचे की तरफ लगा रहता है यह स्विच

तब खैरनार अपने साथी सचिन खेतले, अभिषेक चव्हाण, नितिन कुबल के साथ वाहतूक पुलिस चौकी पर रिक्शा चालक के साथ जाकर कायदे के अनुसार तकरार दर्ज की और उस रिक्शा चालक को जो योग्य किराया होता है वह भी अदा किया |
शिवजी खैरनार का कहना है कि हम लोग ऐसे छोटे छोटे प्रसंगों को नजरअंदाज करते है जिसके वजह से ऐसे बेकयदेशीर काम करने वालो का हौसला बढ़ता है|
उन्होंने हर जवाबदार नागरिक से और साथ ही पुलिस प्रशाशन से भी ऐसे रिक्शा चालको को खोज कर उनपर उचित कार्यवाही करने की मांग की है|
यह जानकारी शिवजी खैरनार ने स्वतः दी है|

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

74 − = 70