मानव अधिकार का हनन करती जल्लाद साहिबाबाद पुलिस

0
Online Hindi news paper khabren apne nagar ki
Online Hindi Newspaper: खबरें अपने नगर की

मानव अधिकार का हनन करती जल्लाद साहिबाबाद पुलिस

साहिबाबाद पुलिस द्वारा पीड़ित की जमकर की गई पिटाई के कारण निर्दोष की हालत इतनी बिगड़ी की निर्दोष तौसीफ खान को जेल प्रशासन ने जेल के अस्पताल में किया भर्ती जेल प्रशासन द्वारा पीड़ित का कराया गया मेडिकल मेडिकल में अनगिनत चोटों के निशान आए अब पीड़ित तौसीफ खान का जेल प्रशासन कर रहा है इलाज

थाना साहिबाबाद में पोस्ट प्रशिक्षु भरत सिंह परिहार ने यूपी पावर कारपोरेशन के 33/11 केवी सब स्टेशन शालीमार गार्डन साहिबाबाद गाजियाबाद पर तैनात संविदा कर्मी तौसीफ खान को झूठे आरोप में फंसाकर वह उच्च अधिकारियों की मदद लेकर निर्दोष पर सरकारी काम में बाधा डालने वह गाली गलौज करने वह आपराधिक बल प्रयोग करने का मुकदमा थाना साहिबाबाद में दर्ज करा दिया इतना ही होता तो भी कोई बात नहीं

मुकदमा दर्ज कराने के बाद शुभा 2:30 से 3:00 के बीच में निर्दोष को उसके घर से गिरफ्तार भी किया गया निर्दोष के घर पर उसके भाई को मां बहन की गालियां दी गई और निर्दोष की बहन को भी गाली दी गई गिरफ्तारी के दौरान शालीमार गार्डन चौकी इंचार्ज वह प्रशिक्षु दरोगा शालीमार गार्डन वह कुछ सिपाही शालीमार गार्डन मौजूद थे यहां तक ही बात खत्म हो जाती तो भी ठीक था

निर्दोष की गिरफ्तारी के बाद चौकी शालीमार गार्डन के चौकी इंचार्ज ने निर्दोष तौसीफ खान को चौकी में लाकर उसके मुंह पर इतने थप्पड़ मारे कि उसके कान में अभी तक बहुत दर्द है जिसका मेडिकल कराया जाएगा हमें आशंका है कि उसके कान का पर्दा फट चुका है यहां तक की बात होती तो भी ठीक था

निर्दोष की पिटाई के बाद शालीमार गार्डन चौकी इंचार्ज ने आरोपी तौसीफ खान संविदा कर्मी यूपी पावर कारपोरेशन को शालीमार गार्डन चौकी से पिटाई करने के बाद थाना साहिबाबाद पहुंचा दिया थाना साहिबाबाद में थानाध्यक्ष के कमरे में क्षेत्र अधिकारी पहले से ही मौजूद थे आरोपी को थानाध्यक्ष के कमरे में ले जा कर क्षेत्र अधिकारी के आदेश अनुसार थाना अध्यक्ष थाना साहिबाबाद में एवं एस एस आई थाना साहिबाबाद वह प्रशिक्षु सब इंस्पेक्टर भरत सिंह परिहार थाना साहिबाबाद ने गंदी गंदी जाती सूचक गालियां देते हुए बहुत बेरहमी से मारा पिटाई कराने के बाद क्षेत्र अधिकारी साहिबाबाद ने पीड़ित तौसीफ खान को धमकाया और लॉकअप में बंद करा दिया यहां तक ही बात रहती तो भी ठीक था

थाना साहिबाबाद पुलिस ने सीओ द्वारा पिटाई कराने के बाद भी चैन की सांस नहीं ली आधे घंटे बाद फिर से तीन सब इंस्पेक्टर जिसमें एक सब इंस्पेक्टर भरत सिंह परिहार एक सब इंस्पेक्टर चौकी शालीमार गार्डन एक सब इंस्पेक्टर प्रशिक्षु चौकी शालीमार गार्डन व 5 सिपाहियों ने पीड़ित तौसीफ खान की गर्दन टांगों में फंसाकर और दोनों हाथ और दोनों पैर पकड़ कर इतनी बुरी तरह से मारा कि पीड़ित की हालत आज तक जेल में होने के बावजूद भी नाजुक बनी हुई है पीड़ित के परिजनों का कहना है कि जैसे मेरठ मवाना पुलिस ने एक युवक को बेरहमी से मारा था और जेल जाने के बाद उस युवक की मृत्यु हो गई थी बाद में थानाध्यक्ष को निलंबित किया गया था उसी तरह से हमारे तौसीफ खान के सातवीं कोई घटना घट सकती है यदि इस तरह की कोई घटना घटेगी तो उस चीज का जिम्मेदार जेल प्रशासन और थाना साहिबाबाद का क्षेत्राधिकारी वह थाना साहिबाबाद का थानाध्यक्ष व प्रशिक्षु सब इंस्पेक्टर भरत सिंह परिहार वह प्रशिक्षु सब इंस्पेक्टर शालीमार गार्डन वह चौकी इंचार्ज शालीमार गार्डन वह एस एस आई थाना साहिबाबाद ही जिम्मेदार होंगे

रिपोर्ट ज्ञानेश पाल हमराही

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

+ 40 = 46