बेख़ौफ़ झोला छापों ने खोली दुकानें

0
Online Hindi news paper khabren apne nagar ki
Online Hindi Newspaper: खबरें अपने नगर की

मूसाझाग

बेख़ौफ़ झोला छापों ने खोली दुकानें नोटिस देने के बाद भी नही हुई कोई प्रभावी कार्यबाही

विकास खण्ड जगत में भयंकर बुखार के चलते बगैर जांच किये हुए इलाज से मौतों का गिराफ बढ़ता ही चला जा रहा है जहां क्षेत्र में मूसाझाग थाने के पास बनी मार्केट में आधा दर्जन दुकानें चला रहे झोलाछापों के लिए पाँच सितम्बर को स्वास्थ्य विभाग ने ईमानदार उर्फ जर्राह,जौहरी प्रसाद समेत तीन लोगों को डिग्री सम्वन्धी कागजात दिखाने के लिए नोटिस दिए थे वहीं समरेर वलॉक के गाँव मनिकापुर कौरि में एक झोलाछाप को नोटिस दिया था वह झोलाछाप कार्यबाही से बचने के लिए  अपने ससुर की  डिग्री के बारे में अपनी दुकान पर लिखवाकर फिर से चालू कर दी इसी डिग्री से एक दुकान दातागंज रोड पापड़ गांव में चलाई जा रही है कार्यबाही से बचने के लिए झोलाछाप हर हथकंडा अपना रहे हैं वहीं स्वास्थ्य विभाग भी झोलाछापों का खूब साथ दे रहा है हफ्ता भर बीत जाने के बाद भी झोलाछापों के खिलाफ कोई कार्यबाही नहीं हुई जिससे बेख़ौफ़ होकर झोलाछाप अपनी दुकानों को फिर सजाकर बैठ गए  और मरीजों का इलाज शुरू कर दिया वहीं क्षेत्र के गाँव मोसमपुर मे फर्जी लैब चल रहीं है जिनकी जांच रिपोर्ट भी गलत निकलती है जसीके कारण हफ्ते भर पहले एक मरीज की जान जा चुकी है इन्हीं लौबों की जांचों के आधार पर झोलाछाप इलाज करते हैं जिससे लोगों को गलत द्वता लग जाती है और मरीज की मौत हो जाती क्षेत्र में बढ़ती मौतों को मद्देनजर रखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने झोलाछापों को नोटिस दिए थे जहां मामले को स्वास्थ्य विभाग ने रफादफा कर दिया और झोलाछापों के खिलाफ कोई कार्यबाही नही हुई जिससे बेख़ौफ़ होकर अपनी दुकानें चलाकर मरीजो की जान से खिलबाड़ कर रहे हैं।

Manoj yadav

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

+ 3 = 5