यहां मालखाने को चूहों ने बनाया मयखाना, गटक गए 750 लीटर देशी दारू 

0

 हरिवंश राय बच्‍चन की ‘मधुशाला’ ने न जाने कितने झरोखों में झांका…न जाने कितने तवों का सामना किया…न जाने कैसे-कैसे आरोप झेले…पर इस बार तो हद हो गई…उत्तर प्रदेश के चूहों ने तो ‘मधुशाला’ की समग्रता को ही कुतर दिया. पियक्कड़ चूहों ने पुलिस की सारी सिक्योरिटी कुतर डाली। मालखाने के बाहर पुलिस का सख्त पहरा था और अंदर रखी थी देसी शराब। चूहे जुगत लगाकर अंदर घुस गए। बाहर पुलिस मालखाने की रखवाली करती रही और अंदर चलती रही चूहों की दारू पार्टी

लिटिल चैम्प स्कूल में अपने बच्चो का भविष्य बनाएं
लिटिल चैम्प स्कूल में अपने बच्चो का भविष्य बनाएं

उत्तर प्रदेश के बरेली में 750 लीटर शराब गटककर चूहों की फौज रफूचक्कर हो गई। कैंट पुलिस ने जब मालखाना खोला तो कुतरे हुए गैलन और केन देखकर हक्कीबक्की रह गई। यह शराब कई मुकदमों में बरामदगी का सामान था। यह अनूठा मामला है कैंट थाने का, जहां मालखाने में पुलिस ने मुकदमों में बरामद कच्ची शराब गैलन और केन में रखा था। 

सभी प्रकार के जीवन बीमा के लिए अवस्य सम्पर्क करें
सभी प्रकार के जीवन बीमा के लिए अवस्य सम्पर्क करें

यहां मालखाने का चार्ज देने का विवाद चल रहा था और पुराने हेड मोहर्रिर चार्ज देने में हीलाहवाली कर रहे थे। इसी बीच एक कुत्ता खिड़की से मालखाने में घुस गया और मर गया। लेकिन मालखाना बंद होने की वजह से उसका शव बाहर नहीं निकल रहा था। मालखाने का चार्ज नहीं सौंपने का मामला अधिकारियों तक पहुंचा तो हेड मोहर्रिर के खिलाफ कार्रवाई का निर्देश दिया गया। पता चलते ही आननफानन हेड मोहर्रिर थाने पहुंच गया और मालखाने का चार्ज देने की प्रक्रिया शुरू हुई। इसके बाद जब मालखाने को खोला गया तो सामान का मिलान शुरू हुआ। उसमें करीब 1 हजार लीटर कच्ची शराब भी रखी थी। जब पुलिस ने मालखाने की सफाई की तो उसके होश उड़ गए। शराब के गैलन खाली पड़े थे और उसमें रखी 750 लीटर शराब गायब थी। गैलन के नीचे छेद हो गया था। 

रिपोर्ट सतीश पाण्डेय

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

16 − = 15