भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ीं करोड़ों की नल-जल योजनाए

0

भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ीं करोड़ों की नल-जल योजनाएं, मंत्री कर रहीं बारिश के लिए मेंढक मेंढकी का विवाह

छतरपुर। भयावह सूखे की मार झेल रहे बुंदेलखंड के लोगों को बूंद बूंद पानी के लिए तरसना पड़ रहा है। छतरपुर शहर के साथ आस-पास के ग्रामीण इलाकों में बचे खुचे जलस्रोतों तक लोगों की कतारें लगी हैं और जनता की इस परेशानी के बीच भाजपा सरकार कहीं नजर नहीं आ रही। उल्टा जनता का ध्यान भटकाने के लिए और सुर्खियों में बने रहने के लिए भाजपा सरकार की मंत्री ललिता यादव टोने-टोटकों का सहारा ले रही हैं। परंपराओं की आड़ में जनता को मूर्ख बनाना भाजपा नेताओं को अच्छी तरह आता है। यह बात कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आलोक चतुर्वेदी पज्जन भैया ने प्रेस को जारी बयान में कही।
उन्होंने बताया कि दो दिन पहले प्रदेश की महिला बाल विकास राज्यमंत्री ललिता यादव के द्वारा मेंढक मेंढकी का विवाह आयोजित किया गया। कहा जा रहा है कि यह विवाह अच्छी बारिश की कामना के लिए है। डिजिटल युग में मेंढक के विवाह से अच्छी बारिश होगी यह तो पता नहीं लेकिन इतना सभी को पता है कि छतरपुर की जनता जलसंकट से त्रस्त है और सरकार कोई कदम नहीं उठा रही है। छतरपुर जिले में लगभग 70 करोड़ रुपए से अधिक की नल जल योजनाएं संचालित की गईं। भ्रष्टाचार के कारण अधिकांश नल-जल योजनाएं बंद पड़ी हैं। इसी तरह शहर के तालाब भू-माफियाओं के शिकंजे में हैं। हर साल तालाबों पर अतिक्रमण कर इसका रकबा घटाया जा रहा है और सरकार तमाशा देख रही है। इसी तरह जिला अस्पताल में पीने को पानी नहीं है। मरीजों के लिए बिस्तर, दवाएं और डॉक्टर नहीं हैं लेकिन इसके सुधार के लिए राज्यमंत्री द्वारा कोई कदम नहीं उठाए जा रहे हैं। पुराने जमाने में तो बीमारी के दौरान झाड़-फूंक का रिवाज भी था क्या आज सरकार बीमार लोगों को ठीक करने के लिए झाड़-फूंक के टोटके की सलाह भी दे सकती है। एक तरफ भाजपा के नेता बुलेट ट्रेन और डिजिटल इंडिया की बात करते हैं और दूसरी तरफ ऐसे अंधविश्वासों में जनता को उलझाकर उन्हें मूर्ख बनाने में जुटे हैं।  श्री चतुर्वेदी ने कहा कि प्रदेश में भाजपा की सरकार है। मंत्री चाहतीं तो छतरपुर के सूखे से पीडि़त जनता को पानी की स्थाई व्यवस्था करा सकती थीं लेकिन सभी सरकारी योजनाओं में भ्रष्टाचार का दीमक लगा हुआ है इसीलिए सरकार को टोटकों का सहारा लेना पड़ रहा है। मंत्री के इस कृत्य से पुरी दुनिया में छतरपुर और मध्यप्रदेश का मजाक उड़ रहा है। इस कृत्य से मंत्री और सरकार का विकास विजन भी लोगों को पता चल गया।
छतरपुर से सुरेंद्र पटेरिया की रिपोर्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

+ 54 = 62