न्यूज़लाईन 24×7 पर प्रकाशित खबर का असर बारिश में जानबूझकर अनाज भिगोने के आरोपी मैनेजर और स्टोरकीपर को DC जींद ने टर्मिनेट करने की सिफारिश की

0
Stamp with word terminated inside, vector illustration

25 जुलाई 2018
संजय पांचाल रोहतक(हरियाणा)

जींद के पिल्लूखेड़ा में गेंहू के गोदाम में बारिश के मौसम के दौरान तिरपाल को हटाकर जान बूझकर भिगोने के मामले में कड़ी कार्रवाई हुई थी। इस मामले में एक बीजेपी कार्यकर्ता राजबीर रोहिला ने युवा हरियाणा को वीडियो बनाकर भेजी थी, जिसके बाद अब प्रशासन हरकत में आया था और हैफेड की मैनेजर बीरमती और स्टोरकीपर सुनील कुमार को सस्पेंड कर दिया था। लेकिन अब इस मामले में जींद DC ने एक कदम औऱ आगे बढ़ते हुए इन अधिकारियों को टर्मिनेट करने की सिफारिश की है।

यह मामला 13 जुलाई का है, जब एक शख्स ने पिल्लूखेड़ा में लगे गोदामों में अचानक पहुंचकर देखा तो वहां पर लगे स्टेकों के गेहूं को बारिश में भिगोया जा रहा था, इसकी वीडियो बना ली गई थी और सोशल मीडिया पर वायरल कर दी थी।

वीडियो में बताया जा रहा है कि बारिश के मौसम में गेंहू भीगने के बाद गेंहू खराब हो रहा है, तो वहीं अनाज का वजन भी भिगोकर बढ़ाया जा रहा है ,इस में अधिकारियों की मिलीभगत से सब कुछ चल रहा है।

पिल्लूखेड़ा में एफसीआई और हैफेड के गोदाम हैं, दोनों ही गोदामों में इस प्रकार से गेंहू को भिगोया जा रहा था। इसकी वीडियो वायरल होने के बाद मुख्यालय से इसकी जांच करने को कहा गया था. जांच में गेंहू के खराब होने की बात सामने नहीं आई। हालांकि इससे पहले गोदाम के चौकीदारों को हटा दिया था।

निदेशालय ने पत्र जारी कर गोदाम मैनेजर बीरमती और स्टोरकीपर सुनील कुमार को सस्पेंड करने की भी ऑर्डर जारी कर दिये थे। लेकिन अब DC ने दोनों पर लापरवाही बरतने के आरोप में टर्मिनेट करने की सिफारिश की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

− 1 = 1