प्रधानमंत्री आवास योजना में भ्रष्टाचार ही भ्रष्टाचार

0
Online Hindi news paper khabren apne nagar ki
Online Hindi Newspaper: खबरें अपने नगर की

प्रधानमंत्री आवास योजना में भ्रष्टाचार ही भ्रष्टाचार
शासन के लाख प्रयास करने के बाद भी प्रधानमंत्री आवास योजना में भ्रष्टाचारियों पर लगाम लगाना नाकाम नजर आ रहा है

छतरपुर जनपद पंचायत के अंतर्गत ग्राम पंचायत हतना में प्रधानमंत्री आवास को लेकर बवाल मचा हुआ है गरीब आखिर आज भी दर-दर भटक रहा है गरीब की कोई भी सुनने वाला नहीं है और अमीरों को प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ दिला दिया गया सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सरपंच के द्वारा अपने चहेतों को प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ दिला दिया है जिनके पास पहले से ही पूरे शान और शौकत के पूरे इंतजाम थे दुपहिया वाहन से लेकर चार पहिया वाहन तक पक्का मकान होने के बावजूद भी प्रधानमंत्री आवास दिला दिया गया प्रधानमंत्री आवास योजना में सरपंच के द्वारा जमकर कमाई की जा रही है

प्रधानमंत्री आवास योजना चढ़ रही भ्रष्टाचार की भेंट
योजना देने के नाम पर शुरू हो जाती है सौदेबाजी

यह योजना छतरपुर विकासखंड के हतना गांव के साथ दर्जनों गांव में भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गई है छतरपुर ब्लॉक के जिम्मेदार अधिकारियों से लेकर ग्राम पंचायत में पदस्थ अधिकारी तक इस योजना का लाभ देने के नाम पर जम कर वसूली की जा रही है पहले से ही ग्रामीणों से योजना का लाभ देने के नाम पर सौदेबाजी शुरू हो जाती है जिस ग्रामीण के द्वारा पैसा देने की बात स्वीकार कर ली जाती है उसका नाम प्रधानमंत्री आवास योजना में चयनित कर लिया जाता है
प्रधानमंत्री की महत्वकांक्षी ग्रामीण आवास योजना में गड़बड़ी रोकने के लिए कर्मचारियों ने भले ही कमर कस ली है लेकिन उनके ही अधिकारी लगा रहे पलीता सरकार ने अपात्रों का नाम बताने वाले व्यक्ति को ₹5000 का इनाम दिए जाने की घोषणा की थी इतना ही नहीं सरकार ने कहा था कि जिन कर्मचारियों के कारण अपात्रों का नाम सूची में जोड़ा जाएगा उन कर्मचारियों को तत्काल प्रभाव से बर्खास्त कर दिया जाएगा इसके अलावा उन पर जुर्माना भी लगाया जाएगा और अगर इस भ्रष्टाचार में जनप्रतिनिधि के नाम सामने आते हैं तो उनका पद छिनेगा इस बात की घोषणा मंगलवार को विधानसभा में पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के मंत्री गोपाल भार्गव ने की थी आखिरकार प्रशासन भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने की कितनी भी कोशिश क्यों ना कर ले लेकिन उनके ही अधिकारी उन्हीं की योजनाओं को सरेआम पलीता लगा रहे हैं और जिम्मेदार चुपचाप सब कुछ देख रहे हैं यह बिना अधिकारियों की मिलीभगत के संभव नहीं है ग्राम पंचायत हतना में प्रधानमंत्री आवास को लेकर एक चर्चा का विषय बना हुआ है की पूरी शान-शौकत के इंतजाम होने के बाद भी टू व्हीलर से लेकर पक्का मकान होने के बाद भी कैसे प्रधानमंत्री आवास का लाभ दे दिया गया अब जवाब देने से पंचायत में बैठे जिम्मेदार बच रहे हैं यदि मामले की जांच पड़ताल हुई तो इस ग्राम पंचायत के कई घोटाले सामने आएंगे

मामला क्रमांक 2

सामुदायिक भवन के लिए आई राशि को डकार गया था सरपंच सांसद निधि से मिला समुदाय भवन लेकिन सरपंच के द्वारा आधी अधूरी राशि निकालकर अपने निजी कार्य में खर्च कर ली थी और समुदाय भवन का कोई अता-पता नहीं था जब मामले की पोल खुली तो मुख्य कार्यपालन अधिकारी के द्वारा तत्काल मामले को संज्ञान में लिया गया और सरपंच सचिव को नोटिस जारी किया गया और 3 दिन में जवाब मांगा गया जवाब ना देने पर धारा 40 एवं धारा 92 के तहत कार्रवाई की जाएगी लेकिन यहां तो कुछ उल्टा ही होता नजर आ रहा है 10 दिन बीत जाने के बाद भी सचिव सरपंच ने नहीं दिया जवाब पंचायत में बैठे जिम्मेदार अपने ही मुख्य कार्यपालन अधिकारी की सरेआम उड़ा रहे धज्जियां अब देखना है कि जनपद के द्वारा इन पर क्या कार्रवाई की जाती है या मामले को यूंही शांत कर दिया जाएगा यह पंचायत करीब 1 साल से सुर्खियों में छाई हुई है इस पंचायत में कई घोटाले हुए लेकिन किसी ने भी इमानदारी से जांच पड़ताल नहीं की प्रधानमंत्री आवास योजना पंच परमेश्वर सुदूर सड़क से लेकर कई योजनाओं को लगाया पंचायत में बैठे जिम्मेदारों ने पलीता बरसों से अधूरी पड़ी पंच परमेश्वर आज तक नहीं लगा पूर्णता आखिरकार इतना भ्रष्टाचार क्यों नहीं हो रही भ्रष्टाचार करने वालों पर कार्यवाही यदि इस ग्राम पंचायत की सही मायने में जांच पड़ताल हुई तो कई घोटाले खुलकर सामने आएंगे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

21 − 12 =