प्रधानमंत्री आवास योजना में भी की गई थी जमकर धांधली

0
Online Hindi news paper khabren apne nagar ki
Online Hindi Newspaper: खबरें अपने नगर की

जनपद पंचायत छतरपुर के अंतर्गत ग्राम पंचायत हतना का है
प्रधानमंत्री आवास योजना को लेकर जमकर फर्जीवाड़ा किया गया है जिसमे सरपंच निकाल रहा अपना हिस्सा मोदी सरकार का भ्रष्टाचार मुक्त बनाने का दावा फिलहाल में फेल होता दिख रहा है प्रधानमंत्री आवास योजना भी पूरी तरह भ्रष्टाचार का शिकार हो चुकी है और इसके आवंटन में भी धांधली जमकर की गई है कागजों पर खुली बैठक कर आवास आवंटन का काम किया गया है और आवास के नाम पर वसूली करने की शिकायत पर भी अधिकारी कोई कार्रवाई नहीं करते दिख रहे हैं सूत्रों की माने तो सरपंच के द्वारा प्रधानमंत्री आवास में जमकर वसूली की जा रही है सरपंच अपना हिस्सा लेने में नहीं चूक रहे हैं पैसे दो और प्रधानमंत्री आवास लो यह काम सरपंच के द्वारा बड़ी आसानी से किया जा रहा है लेकिन यह सब बिना अधिकारियों की मिलीभगत के संभव नहीं है सरकारी योजनाओं के लागू करने को लेकर अधिकारियों व कर्मचारियों की ओर से किस कदर लापरवाही व सुस्ती बऱती जाती है इसका अंदाजा प्रधानमंत्री आवास योजना को देखकर लगाया जा सकता है वर्ष 2016 17 में भारत सरकार की ओर से इंदिरा आवास योजना के स्थान पर प्रधानमंत्री आवास योजना का संचालन किया गया था

ग्राम पंचायत हतना में ऐसे कई व्यक्तियों को प्रधानमंत्री आवास दे दिए गए हैं जिनके पास पहले से ही चार पहिया वाहन से लेकर शान और शौकत के पूरे इंतजाम होने के बावजूद भी पक्का मकान टू व्हीलर गाड़ी ट्रैक्टर होने के बावजूद भी प्रधानमंत्री आवास दे दिया गया है कुल मिलाकर इस ग्राम पंचायत में अंधेरी नगरी और चौपट राजा का खेल चल रहा है यदि मामले की सही तरीके से जांच पड़ताल की गई तो इस ग्राम पंचायत के कई काले कारनामे खुलकर प्रशासन के सामने आ जाएंगे कई योजनाओं को पंचायत में बैठे जिम्मेदारों ने लगाया पलीता अब अधिकारी जवाब देने से बचते नजर आ रहे हैं और यदि सरपंच से वार्तालाप करने की कोशिश की जाती है तो या तो सरपंच के द्वारा फोन रिसीव नहीं किया जाता है और यदि फोन रिसीव भी कर लिया जाए तो बाहर होने की बात कहकर फोन काट देते हैं इससे एक बात तो क्लियर साफ नजर आ रही है कि सरपंच अधिकारियों से सांठगांठ कर अपने को बचाने की कोशिश कर रहा है यह पहला मामला नहीं है इस ग्राम पंचायत में ऐसे कई मामले हो चुके हैं फिर भी पंचायत के द्वारा कोई कठोर कदम नहीं उठाया गया जिससे सरपंच के हौसले बुलंद हैं
प्रधानमंत्री आवास योजना में मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री के बार बार चेतावनी देने के बाद भी अधिकारी और कर्मचारी सरपंच के संग मिलकर अपात्रों को आवास आवंटित करने में लगे हुए हैं एक ओर जहां गरीबों के रहने के लिए छत नहीं है वहीं दूसरी ओर गरीबों के लिए आई प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत ऐसे लोगों को मकान दिए गए जो पहले से ही आलीशान मकानों में रहते हैं जिनके पास चार पहिया वाहन से लेकर सान शौकत के सारे इंतजाम पहले से ही हैं ग्रामीणों की माने तो प्रधानमंत्री आवास योजना में फर्जीवाड़ा जमकर किया गया है ग्रामीणों ने सरपंच पर आरोप लगाया है कि उन्होंने पात्रों की अनदेखी कर अपने चहेतों को योजना का लाभ पहुंचाया है प्रधानमंत्री आवास योजना में हो रही गड़बड़ी का खुलासा करके अफसरों को हैरान कर दिया है दरअसल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 20 22 तक सबको आवास मुहैया कराने की योजना में आम लोगों से अवैध वसूली के मामले सामने आ रहे हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

75 − = 70