गिरफ्त में जालसाज : देशभर में फैलाया था नेटवर्क

0

पंजाब पुलिस ने शाजापुर से दबोचा

एटीएम कार्ड से करोड़ों रुपए की धोखाधड़ी करने वाले गिरोह के 6 सदस्यों को पूर्व में देश के अलग-अलग प्रांतों से गिरफ्तार किया जा चुका है

शाजापुर

एटीएम कार्ड के क्लोन बनाकर लोगों के साथ धोखाधड़ी करने वाले राष्ट्रीय गिरोह के सेकंड कमांडर को पंजाब स्टेट साइबर सेल की टीम ने तीन दिन की रैकी के बाद शनिवार सुबह शाजापुर स्थित घर पर दबिश देकर दबोच लिया। लोगों के एटीएम कार्ड से देशभर में करोड़ों रुपए की धोखाधड़ी करने वाले गिरोह के 6 सदस्यों को पूर्व में देश के अलग-अलग प्रांतों से गिरफ्तार किया जा चुका है। उनकी ही निशानदेही पर पंजाब पुलिस ने स्थानीय पुलिस की मदद से गिरोह के सेकंड कमांडर को शाजापुर से दबोच लिया। पुलिस उसे अपने साथ पंजाब के मोहाली लेकर रवाना हो गए।

लंबे समय से कर रहे थे धोखाधड़ी
पंजाब स्टेट साइबर सेल के इंस्पेक्टर समरपाल सिंह ने बताया कि देश के अलग-अलग प्रांतों में एटीएम के क्लोन बनाकर उससे लोगों के खातों से पैसे निकालने वाले गिरोह के सदस्य लंबे समय से देशभर में धोखाधड़ी कर रहे थे। ऐसे ही एक मामले में पंजाब के थाने पर मोहाली की एचडीएफसी बैंक के ग्राहक ने खुद के साथ हुई धोखाधड़ी की शिकायत की थी। 5 अगस्त को हुई एफआइआर के बाद पंजाब स्टेट साइबर सेल ने गिरोह की तफ्तीश शुरू की। पुलिस ने गिरोह के 3 सदस्यों को मोहाली से गिरफ्तार किया। इसके साथ ही एक सदस्य को लखनऊ से, एक को दिल्ली के पास एक गांव से, एक को इंदौर से गिरफ्तार कर लिया। इन सभी से पूछताछ में गिरोह के सातवें सदस्य गौरव पिता रामप्रसाद वर्मा के बारे में जानकारी मिली।

50-60 लाख रुपए की धोखाधड़ी स्वीकारी
गौरव के शाजापुर के निवासी होने की सूचना पर तीन दिन पहले से यहां पर आकर उसकी रैकी की गई। स्थानीय पुलिस से सहयोग लेकर शनिवार सुबह गौरव के लालपुरा स्थित घर के आसपास घेराबंदी करके उसे घर में से सोते हुए ही उठा लिया। कोतवाली लाकर जब उससे पूछताछ की गई तो उसने अभी तक 50-60 लाख रुपए की धोखाधड़ी करना स्वीकार कर लिया है।

करीब 500 से ज्यादा को बनाया शिकार
समरपाल सिंह ने बताया कि गौरव सहित पूरे गिरोह ने मिलाकर देशभर में करीब 500 से ज्यादा एटीएम कार्ड के क्लोन बनाकर करोड़ों रुपए की धोखाधड़ी की है। उन्होंने बताया कि गौरव एटीएम कार्ड से बहुत ही तेजी से कैश निकाल लेता था। मोहाली में जब शिकायत हुई तो इसके बाद उन्होंने अलग-अलग एटीएम के सीसीटीवी फुटेज देखे। इन फुटेज में करीब 100 से ज्यादा स्थानों पर गौरव एटीएम से ट्रांजेक्शन करते हुए दिखाई दिया।

लाखों रुपए निकलने से मिला सुराग
समरपाल सिंह ने बताया कि पूरे गिरोह ने राष्ट्रीय स्तर पर अपना नेटवर्क फैलाया हुआ था। गिरोह के सदस्य रात में 11 बजे के बाद से लेकर अलसुबह 3 बजे के बीच में ही एटीएम से कैश निकालते थे। ताकि दिन बदलने के कारण एक एटीएम से मोटी रकम निकाली जा सके। उन्होंने बताया कि मोहाली के एटीएम से एक ही रात में करीब 26 लाख रुपए से ज्यादा कैश निकाले जाने के बाद मामला सामने आया। बैंक के उपभोक्ता की शिकायत के बाद मामले की पड़ताल करना शुरू की गई।

इनका कहना है
एटीएम से क्लोन बनाकर लाखों रुपए की धोखाधड़ी करने वाले गिरोह के सदस्य को पंजाब पुलिस ने शाजापुर से पकड़ा है। इसमें स्थानीय पुलिस ने उनका सहयोग किया है। मामले में कार्रवाई पंजाब पुलिस ही करेगी।
शैलेंद्रसिंह चौहान, एसपी-शाजापुर

सूत्र

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

6 + 1 =