स्वच्छता का संदेश लेकर गाँव गाँव में जागरूकता फैलाने हेतु पंचायती राज विभाग उत्तर प्रदेश द्वारा संचालित स्वच्छ

0
Cleanliness by the Ministry of Panchayati Raj,

स्वच्छता का संदेश लेकर गाँव गाँव में जागरूकता फैलाने हेतु पंचायती राज विभाग उत्तर प्रदेश द्वारा संचालित स्वच्छ शक्ति रथ/एलईडी वैन

मड़ावरा:– ललितपुर जनपद में जिलाधिकारी महोदय जी के हरी झंडी दिखाने के पश्चात दिनाँक 10-05-2018 को सर्वप्रथम विकास खंड मडावरा पहुँची वहाँ पर पांच दिन में दस ग्राम पंचायतों के तय कार्यक्रम के अनुसार पहले दिन ग्राम पंचायत मडावरा एवं बम्हौरी कला एवं दूसरे दिन पारौल एवं नाराहट तीसरे दिन दैनपुरा व ककरूआ एवं चौथे दिन गुरयाना व गौना तथा पाँचवें एवं अन्तिम दिन धवा और गिदवाहा ग्राम पंचायत में एलईडी पर स्वच्छता सम्बन्धी फिल्म दिखाई गई जिसके माध्यम से लोगों को समझाया गया कि जिस घर में नियमित साफ सफाई होती है उस घर में लक्ष्मी का वास होता है एक तरफ हम लक्ष्मी की पूजा करते हैं वहीं दूसरी तरफ हम इधर उधर गंदगी फैलाते हैं यह बहुत ही शर्मिंदगी की बात है। साथ ही फिल्म के माध्यम से यह भी बताया गया कि एक तरफ तो हम नयी नवेली बहू की मुँह दिखाई करते हैं वहीं शाम को लोटा पकडाकर खुले में शौच जाने को मजबूर कर देते हैं और न जाने कितने लोग उसको देखते है जिसके बारे में सोचने से रूह काँप जाती है तब वह मूँछ वह मान सम्मान कहाँ चला जाता है ऐसे लोगों को उस वक्त शर्म नहीं आती।

इसके साथ ही खुले में शौच जाने से होने वाली संक्रामक बीमारियों की जानकारी दी जिनसे व्यक्ति की अकाल मृत्यु हो जाती है और सर्वाधिक मृत्यु 0 से 5 बर्ष तक के बच्चों की होती है। साथ ही कूडा करकट को घर से दूर एक गड्ढा खोदकर उसमें निस्तारण करने की बात कही गई इसके अलावा बताया गया कि 80 प्रतिशत बीमारियाँ जल जनित एवं मल जनित होती हैं अतः खाना खाने से पहले और शौच के पश्चात साबुन से हाथ धोना चाहिए और साफ पानी पीना चाहिए पीने के पानी को ढककर रखें एवं पानी लेने हेतु डंडीनुमा लोटे का ही प्रयोग करें ताकि दूषित पानी के प्रयोग से होने वाली बीमारियों से बचा जा सके। नुक्कड़ नाटक के माध्यम से लोगों को शौचालय की महत्ता बतलाई गई इसके साथ ही लोगों से शौचालय का निर्माण तथा उसका उपयोग करने का आह्वान किया गया इस कार्यक्रम को सफल बनाने में में स्वच्छ शक्ति रथ के सुपरवाइज़र अंकित सिंह व उनकी टीम के अलावा ब्लाॅक समन्वयक नीरज दीक्षित का विशेष सहयोग रहा।

इन्द्रपाल सिंग की रिपोर्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

93 − = 92