अधिकारियों को कम पड़ गईं कुर्सियां, लोगों से कुर्सी खाली करा बनी व्यवस्था

0

ललितपुर

जिलाधिकारी की अध्यक्षता में ग्राम गिरार में रात्रिकालीन जन चौपाल का आयोजन
? सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं की ग्रामीणों को दी गयी जानकारी
? योजनाओं का लाभ लेने हेतु करायें ऑनलाइन आवेदन, दलालों से बचें

? अच्छी प्रजाति के गाय, भैंस से मिलता है अधिक मात्रा में दूध
? अधिकारियों को कम पड़ गईं कुर्सियां, लोगों से कुर्सी खाली करा बनी व्यवस्था

ललितपुर।
शासन की मंशानुसार रात्रिकालीन जनचौपाल का आयोजन ग्राम गिरार के पूर्व माध्यमिक विद्यालय में जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह की अध्यक्षता में किया गया। जन चौपाल में जिलाधिकारी मानबेन्द्र सिंह ने कहा कि शासन द्वारा ग्रामीणों के बहुत ही लाभकारी योजनायें चलाई जा रहीं हैं किन्तु जानकारी के अभाव में ग्रामीण उन योजनाओं का लाभ बहुत कम ले पा रहे हैं। गांव के लोग जागरुक हों तथा उन्हें सरकारी योजनाओं का लाभ ठीक से मिले इसी लिये सरकार द्वारा रात्रिकालीन जन चौपालों का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने दो टूक शब्दों में कहा कि जागरूक होकर शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ लें, खासतौर से दलालों से बचें। दलाल आपके मित्र हो ही नहीं सकते, दलालों से मिलकर आप लोग पैसा व समय दोनों की बर्बादी करते हैं साथ ही योजनाओं के लाभ से भी वंचित हो जाते हैं। इसी अधिकारी आपके गांव में आकर आप लोगों को जागरूक करने का काम कर रहें हैं ताकि आप लोग आसानी से योजनाओं का लाभ ले सकें। जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह ने सभी विभागों की योजनाओं की समीक्षा की। इसके बाद उन्होंने ग्रामीणों की समस्याओं को सुना उनके प्रार्थना-पत्र लिये तथा उन्होंने निस्तारण हेतु संबंधित अधिकारियों को लिखा। इस दौरान जिलाधिकारी द्वारा कृषि विभाग द्वारा उपलब्ध कराए गए तिली, मूंग, उर्द आदि बीजों के कुछ थैले किसानों को वितरित किये गये।
जिला पशु चिकित्सा अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि यहाँ पर अच्छी किश्म के दुधारु जानवर नहीं है जिसके कारण दुग्ध उत्पादन अच्छा नहीं हो पाता है उन्होंने अच्छी नश्ल के गाय, भैस आदि जानवर रखने के सुझाव ग्रामीणों को दिये। जन चौपाल में अव्यवस्था भी देखने को मिली जिलाधिकारी के आगमन के बाद कुछ अधिकारियों के बैठने के लिये कुर्सियां कम पड़ गईं। पहले तो बीडीओ मड़ावरा खाली कुर्सियों को तलासते रहे किन्तु जब उन्हें कहीं पर खाली कुर्सियां नजर नहीं आईं तो लोगों से कुर्सियां ख़ाली कराकर अधिकारियों के बैठने की व्यवस्था की गई।
जनचौपाल में मुख्य विकास अधिकारी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. प्रताप सिंह, डीडी कृषि, एलडीएम, जिला पूर्ति अधिकारी, जिला पशु चिकित्सा अधिकारी, खण्ड विकास अधिकारी बीपी शुक्ला, खण्ड शिक्षा अधिकारी रामगोपाल वर्मा, ग्राम प्रधान धांधू, ग्राम पंचायत विकास अधिकारी, लक्ष्मण सिंह तोमर, शिवकुमार त्रिपाठी, मानसिंह, जिला सूचना अधिकारी पीयूषचन्द्र राय, सीडीपीओ उर्मिला तिवारी, सुपरवाइजर रामकुमारी, आशा, आंगनबाड़ी मनोरमा सहित विभिन्न विभागों के अधिकारियों सहित ग्रामीण उपस्थित रहे।

रिपोर्ट इंद्रपाल सिंह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

− 3 = 5