शातिर निकला भाई का हत्यारा, कई घटनाओं को दे चुका है अंजाम

0
Online Hindi news paper khabren apne nagar ki
Online Hindi Newspaper: खबरें अपने नगर की

इलाहाबाद।

जनपद के गंगापार इलाके में थरवई थाना क्षेत्र के बहमलपुर गांव मे 23 अगस्त को एक कलियुगी भाई राजेन्द्र 31वर्ष पुत्र फूलचंद निवासी बहमलपुर ने अपने छोटे भाई सुरेन्द्र 24 वर्ष की जींस के पैंट चोरी कर के बेच देने के विवाद मे अपने सगे भाई की चाकू गोद कर हत्या कर दिया था। और चाकू को घटना स्थल के कुछ दूरी पर खेत मे फेक कर फरार हो गया था। पुलिस ने घटना स्थल पर पहुंच कर हत्या की गई चाकू को खेत से बरामद कर लिया था। तब से थरवई पुलिस छोटे भाई की हत्या आरोपी राजेंद्र को पुलिस तलाश कर रही थी। लेकिन पुलिस की गिरफ्त मे आरोपी नही आ रहा था। पुलिस को कल सूचना मिली की भाई का हत्यारा राजेंद्र हेटापटी के कछार मे छुपा हुआ है। थरवई थाने के एसोओ राजकिशोर ने एक टीम बना कर हेटापटी सुबह भोर मे पांच बजे पुलिस फोर्स के साथ पहुंच गये।
और आरोपी राजेंद्र को कछार से गिरफ्तार कर लिया। जब पुलिस राजेंद्र को थाने पर पकड़ कर ले आने के बाद पूछताछ करने पर वह पुलिस के सामने टूट गया और अपने भाई की हत्या का जुर्म काबुल कर लिया। लेकिन राजेंद्र ने जो पुलिस के सामने जो खुलासा किया वह चौकने वाली बात सामने आयी है। उसने बताया कि बरामद की गई चाकू से मैंने पांच हत्या की है।
जिसमे सब से पहले मैने और मेरे दो साथी मिथुन पटेल पुत्र शिवकुमार व दूसरा साथी सुनील यादव पुत्र रामसुंदर निवासी चाकिया थरवई हम लोग नसे के आदी है। हम लोग स्मैक, गाजा, शराब पीने के आदि है। इस लिये हम लोगों के घरो मे चोरी करते है। जिस घर मे बुजुर्ग रहते है। उसी घर को हम लोग निसाना बनाते थे। अभी हम तीनों ने 3 जुलाई को सहजीपुर थरवई गांव मे हम लोगों ने विजय बहादुर के घर पर चोरी करने गये थे। लेकिन चोरी मे सफल ना होने पर हम तीनों ने विजय बहादुर 55 वर्ष और उसकी पत्नी उषा देवी 45 वर्ष की हत्या चाकू से गला रेत कर व चाकू से गोद कर किया था। और दूसरी हत्या हम तीनों साथियों ने सास व बाहू का किया था। जो हार्टमनगंज निवासी थी। उनके घर हम लोगों को पता चला था। कि गोमती देवी ने बीस लाख रूपये का जमीन बेचा है। और पैसा अभी घर मे ही है। इस लिये चोरी के नियत से मै और मेरे दो साथी मिथुन पटेल और दूसरा साथी सुनील यादव 25 जुलाई के गोमती देवी के घर पर पहुंचे। तो देखा कि गोमती देवी और उसकी बाहू सोना देवी घर के बरान्दे मे सो रही है। जब हम लोगों ने दरवाजे की कुंडी का ताला तोड़ने लगे तो गोमती देवी आहट सुन कर जाग गई । तब हम तीनों ने उसी चाकू से गला रेत कर गोमती देवी 80 वर्ष और बाहू सोनो देवी 45 वर्ष की गोद कर हत्या कर दिया। और दराजे की कुंडी का ताला तोड़ कर अदर रखा बक्से का ताला जब तोड़ा तो उसमे मात्र तेरह सौ रूपये थे। और बीस लाख रूपये नही थे। शायद गोमती देवी ने बीस लाख रूपये बैंक मे जमा कर दिये थे।
हम लोगो ने गोमती देवी के घर से तेरह सौ रूपये और गोमती देवी के पैर मे पहना हुआ गोडहरा और हाथ मे कगंन चोरी कर भाग गये।
जिसमें पुलिस काफी दिनो से हत्या आरोपी को तलाश कर रही थी। जो अपने ही भाई की हत्या मे पकड़े जाने पर चोरी और लूट हत्या जैसे गम्भीर अपराध काबुल कर लिये। थरवई थाने के एसएचओ राजकिशोर ने बताया कि यह हत्या आरोपी सात बार चोरी लूट और हत्या जैसे आरोपो मे जेल जा चूका है। अभी दस दिन पहले रेलवे का सामान चोरी के जुर्म मे छुट कर जेल से आया है। और अपने ही सगे छोटे भाई सुरेन्द्र की हत्या कर फरार हो गया था। जिसे कल थरवई थाने के एसएचओ राजकिशोर, बलवंत यादव, अरविंद कुमार सिंह, रामाश्रय सिंह, अनूप कुमार, सैय्यद जियाउल, रोहित सिंह गौर, श्रीनाथ यादव आदि लोगों ने टीम मे सामिल लोगों के संयोग से गिरफ्तार किया गया।

अनिल कुमार पाल की रिपोर्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

− 7 = 2