अजय सिंह द्वारा गवाह पर बनाया जा रहा दबाब

0

रीवा

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश मंत्री व चुरहट विधानसभा 2013 मे प्रत्याशी रहे शरदेन्दु द्वारा पुलिस महानिरिक्षक रीवा के समक्ष नेता प्रतिपक्ष अजय अर्जुन सिंह के विरुद्ध एक शिकायत दर्ज कराई है।

शिकायत में उनके द्वारा कहा गया है कि मुख्यमंत्री जी के रथ में पत्थर फेंकने वालों के देखने वाले साक्षी संदीप चतुर्वेदी ने स्वतंत्र होकर अकेले यह तथ्य बताया है कि उसने मुख्य मंत्री पर हुई पत्थरबाजी की घटना देखी और घटना क्रमबद्ध रूप से किस तरह से घटित हुई इसका बयान दिया, लेकिन एक पेट्रोल पंप में दैनिक मजदूरी करने वाला आदमी जिसका पिता चतुर्थ श्रेणी का कर्मचारी है उसको अजय सिंह द्वारा अपने प्रभाव व दबाव में लेकर जिस तरह से भोपाल ले जाकर प्रेस वार्ता करके उसके साक्ष्य बदलवाकर मिथ्या साक्ष्य दिलाने का प्रयास किया वा लगातार इस साक्षी को निरोधित किए हुए हैं व उसे अपने सामान्य निवास से 600 किलोमीटर दूर भोपाल में अपने कब्जे में रखे हुए हैं एवं उसे उसके घरवालों से मिलने नहीं दे रहे हैं इस तरह से श्री अजय अर्जुन सिंह भारतीय दंड विधान की धारा 195 A सहपठित धारा 511 में परिभाषित अपराध करने का प्रयास कर रहे हैं 195-A Threatening or inducing any person to give false evidence -whoever threatens another with any injury to his person reputation or property or to the person or reputation of any one in whome that person is interested with intent to cause that person to give false evidence shall be punished with impresonment Of either description for a term which may extend to seven year’s, or with fine or with both. श्री अजय अर्जुन सिंह लगातार उक्त साक्षी को अपनी अभिरक्षा में लिए हुए हैं वह उससे झूठा बयान दिला रहे हैं जबकि एक बार वह विधि के प्रावधानों के अधीन साक्ष्य दे चुका है ,वा अन्वेषण में भी बाधा डाल रहे हैं जबकि उक्त साक्षी का पिता गरीब परिवार का है वा उक्त साक्षी का जीविकोपार्जन दैनिक मजदूरी है जो बंद है अतः यह स्पष्ट होता है कि वह स्वेच्छा से अगर जाता तो उसे भोपाल जाने की जरूरत नहीं थी वह यहीं बड़े अधिकारियों से शिकायत कर देता वह भोपाल में भी अगर जाता या गया था तो वह मुक्त होकर अपने कार्य में लौटा आता, संपूर्ण घटनाक्रम उसे निर्धारित किए जाने की स्थिति बताते हैं स्पष्टत 2 तारीख को हुई घटना के विषय में अजय सिंह जी 8 तारीख को पत्रकार वार्ता भोपाल में करते हैं गवाह को अपनी अभिरक्षा में रखकर कानूनी प्रक्रिया को बाधित करने गवाह को डराने ,धमकाने ,लालच देने ,और पद के द्वारा उसे प्रभावित करने का सतत् प्रयास अजय सिंह जी कर रहे हैं जबकि उक्त घटना अभी भी पुलिस जांच में है एवं माननीय मुख्यमंत्रीजी की हत्या के प्रयास के मामले में अजय सिंह जी के ऊपर भी उंगली उठ रही है, तथा इसकी साजिश में उनके शामिल होने की आशंका को नकारा नहीं जा सकता उक्त परिस्थिति में मैंने माननीय पुलिस महानिरीक्षक महोदय से मांग की है कि गवाह को अजय सिंह के प्रभाव से मुक्त कराया जाए एवं उसे पुलिस सुरक्षा प्रदान की जाए साथ ही कानूनी जांच में बाधा डालने ,गवाह को प्रभावित करने के आरोप में धारा 195 ए सहपठित धारा 511 भारतीय दंड संहिता 1861 के तहत कानून की मंशा को देखते हुए श्री अजय सिंह की तत्काल गिरफ्तारी सुनिश्चित की जाए। पत्रकार वार्ता में प्रमुख रूप से भाजपा जिलाध्यक्ष विद्याप्रकाश श्रीवास्तव, पूर्व सांसद व प्रदेश मंत्री बुद्धसेन पटेल, पूर्व महापौर व पूर्व प्रदेश मंत्री वीरेंद्र गुप्ता, जन अभियान परिषद सीधी के उपाध्यक्ष ज्ञानेन्द्र अग्निहोत्री व जिलामीडिया प्रभारी रितेश मिश्र उपस्थित रहे

Surendra pateriya

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

+ 37 = 38