बुराड़ी सामूहिक आत्महत्या के तीन राज

0

बुराड़ी सामूहिक आत्महत्या के तीन राज, जान कर रह जाएंगे हैरान

2 जून 2018
संजय पांचाल रोहतक(हरियाणा)

पाइप, डायरी और चुन्नी के बीच उलझी दिल्ली पुलिस

(दिल्ली)राजधानी के बुराड़ी में हुए एक ही परिवार के सभी 11 सदस्यों की मौत के मामले में समय बीतने के साथ साथ कई सारे ऐंगल निकल कर सामने आ रहे हैं। पुलिस सूत्रों के अनुसार इन सारे लोगों को सामूहिक आत्म्हत्या के लिए कोइ गुरु, बाबा या फिर कोई तांत्रिक जिम्मेदार हो सकता है। पुलिस के मुताबिक इन सब को किसी ने मोक्ष पाने का रास्ता बताकर सामूहिक आत्महत्या के लिए उकसाया है।

11 पाइपों का अनसुलझा रहस्य

जिस घर में 11 शव मिले हैं उसी घर के पीछे की दीवार से निकले 11 पाइप सभी लोगों को हैरान कर रहे हैं। इन पाइपों में खास बात यह है कि 7 सीधे और 4 मुड़े हुए हैं। वहीं घर में मरने वालों में 7 महिलाएं और 4 पुरुष थे। इन पाइपों से अंधविश्वास को देखकर एक बात तो साफ हो जाती है कि इस परिवार के सदस्यों के पर अंधविश्वास पूरी तरह से हावी था।

मौत की डायरी

घर की छानबीन के दौरान पुलिस के हाथ एक डायरी लगा है। इस डायरी में काफी कुछ ऐसा लिखा है जो आपको चौंका सकता है। इस डायरी एक पन्ने में लिखा है, ”पट्टियां अच्छे से बांधनी है। शून्य के अलावा कुछ नहीं दिखना चाहिए।’ इस डायरी में आगे लिखा है कि, ‘रात में एक बजे के बाद जाप शुरू करो। मौत के पहले अपनी आंखें बंद करो कपड़े और रुई रखकर। बुरा नहीं सुनने के लिए कानों में भी रूई भर लो। मरते समय छटपटाहट होगी इसलिए अपने हाथ काबू करने के लिए बांध लो। यह काम शनिवार और गुरुवार को अच्छा रहेगा।’

शवों के गले का फंदा बनी चुन्नी
घर में पाए गए शवों में से ज्यादातर के गले में चुन्नी बंधी हुई थी। इन चुन्नियों में धार्मिक संदेश लिखे हुए थे। बता दें कि परिवर के लोगों ने इस सामूहिक आत्महत्या के लिए पहले से ही चुन्नी और सूती कपड़ों का इंतजाम कर रखा था। सूत्रों के मुताबिक इन सारे सबूतों को देख कर ऐसा मालूम होता है कि इस परिवार के सदस्य काफी दिनों से कोई विशेष साधना कर रहे थे। पुलिस को इन सारे लोगों को उकसाने वाले गुरु की सरगर्मी से तलाश है, जिसने उन्हें ‘मोक्ष प्राप्त करने का तरीका’ बताया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

7 + 3 =