2 माह गुजर जाने के बाद भी नहीं हो पाई सुदूर सड़क निर्माण की जांच

0
Online Hindi news paper khabren apne nagar ki
Online Hindi Newspaper: खबरें अपने नगर की

नौगांव

जनपद पंचायत नौगांव के अंतर्गत ग्राम पंचायत नूना मैं सुदूर सड़क निर्माण को लेकर भारी धांधली की गई थी आधी अधूरी सड़क बनाकर पूरी राशि निकालकर डकार गए थे सचिव और सरपंच
सरकार ग्रामीण स्तर पर काफी पैसा खर्च करती है और वह पैसा ग्राम पंचायत स्तर पर दिया जाता है जिससे कि ग्राम पंचायत अपने अनुसार अच्छा काम कर सके और ग्राम पंचायत को विकास की ओर बढ़ा सके मगर नौगांव जनपद की अनेकों पंचायतों में सरकार की अनेकों योजनाओं को जमकर पलीता लगाया जा रहा है ग्राम पंचायतों में बन रही सीमेंट सड़कों सुदूर सड़कों से इसका अंदाजा आसानी से लगाया जा सकता है की कितना भ्रष्टाचार चल रहा है लेकिन सबसे बड़ी बात यह है कि इन पंचायतों मैं शासन की अनेकों योजनाओं को खुलेआम पलीता लगाया जाता है और जिम्मेदार अधिकारी इन को नजरअंदाज करते आते हैं वही शासन द्वारा ग्राम पंचायतों में घटिया निर्माण होता है तो उसके लिए इंजीनियर सब इंजीनियर रखे हुए हैं जो कि घटिया निर्माण पर उचित कार्यवाही कर सकें मगर हालात कुछ और ही बयां करते हैं की पंचायतों में इतने घटिया निर्माण चल रहे हैं और उन कामों की शिकायत भी होती है लेकिन कार्यवाही कुछ होती नजर नहीं आती और उन पंचायतों के कामों का मूल्यांकन और cc सुदूर सड़क जाई कैसे कर दी जाती है यह बात अधिकारियों पर प्रश्नचिन्ह खड़ा करती है साथ ही जनता की समझ नहीं आता कि शिकायत के बाद भी आखिर मूल्यांकन और सुदूर सड़क कैसे जारी हुई क्या बड़े अधिकारी भी इन घटिया निर्माण में शामिल रहते हैं तभी तो ग्राम पंचायतों में जमकर पलीता लगाया जा रहा है जन अपेक्षा है कि यीशु शासन अपना ध्यान आकर्षण करें और जिम्मेदार अधिकारियों पर कार्यवाही हो जो शिकायत के बाद भी जांच नहीं करते और कामों का मूल्यांकन कर देते हैं

सुदूर सड़क की लंबाई मोटाई में किया गया घपला
ग्राम पंचायत में सुदूर सड़क का निर्माण 1478000 रुपए की राशि से किया जाना था जिसकी लंबाई 1300 मीटर के आसपास थी लेकिन सचिव सरपंच की मिलीभगत से रोड की लंबाई 800 मीटर के आस-पास ही डाली गई और पूरा पैसे निकाल कर डकार गए अब अधिकारी भी जांच करने से बच रहे हैं उन्हें लगता है कि यदि जांच पड़ताल हुई तो हम भी कहीं लपेटे में ना आ जाएं इस ग्राम पंचायत में लाखों रुपए के घोटाले हुए लेकिन जांच के नाम पर आज तक आज तक नहीं उठी आखिरकार इतना भ्रष्टाचार होने के बावजूद भी अधिकारी क्यों चुप्पी साधे हुए हैं

सुरेंद्र पटेरिया की रिपोर्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

68 + = 73