सरकार के खजाने पर सबसे पहला हक किसान का : राधा मोहन

0

10 जुलाई 2018
संजय पांचाल रोहतक (हरियाणा )

गुरुग्राम। केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री राधामोहन सिंह ने कहा कि किसानों की आमदनी बढ़ाने में न्यूनतम समर्थन मूल्य की बड़ी भूमिका है। उन्होंने कहा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने खरीफ फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य में लागत की तुलना में डेढ़ गुणा वृद्धि करके किसानों पर बड़ा उपहार दिया है। क्योंकि वे मानते हैं कि सरकार के खजाने पर पहला हक किसानों का है।

कांग्रेस पर लगाया रिपोर्ट को दबाने का आरोप
राधामोहन सिंह ने कहा कि 2004 में राष्ट्रीय किसान आयोग का गठन किया गया था, जिसके अध्यक्ष एमएस स्वामीनाथन थे। इस आयोग की अंतिम रिपोर्ट 2006 में प्रस्तुत की गई थी। कांग्रेस पार्टी पर इस रिपोर्ट को दबाए रखने का आरोप लगाते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कांग्रेस ने इस रिपोर्ट 2014 तक दबाती रही। कांग्रेसी नेता किसान के हित में दिन मेंं बयानबाती करते और शाम ढलते ही अपने हित में लग जाते थे।

उन्होंने कांगेे्रस पर यह भी आरोप लगाया कि उनके शासनकाल में धान और गेंहू को छोडक़र अन्य फसलों की खरीददारी नही की जाती थी। राधामोहन सिंह ने कहा कि हमने दलहन, बाजरा, सूरजमुखी आदि की भी खरीद करवाई। उन्होंने बताया कि केन्द्र सरकार ने खरीफ फसलों की न्यूनतम समर्थन मूल्य में कुल लागत का डेढ़ गुण कर दिया है। सर्वाधिक 97 प्रतिशत वृद्धि बाजरा के समर्थन मूल्य में की गई है।

मोदी राज में किसान आबाद, कांग्रेस बर्बाद: धनखड़
हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने कहा कि न्यूनतम समर्थन मूल्य में लागत की तुलना में डेढ़ गुणा बढ़ोतरी होने से किसान की जेब में पैसा आएगा। उन्होंने कहा कि मोदी राज में किसान तो आबाद हो रहा है, लेकिन कांग्रेस बर्बाद हो रही है। उन्होंने कहा कि हमने किसान को ना केवल अच्छा भाव दिया बल्कि उसे जोखिम फ्री बना दिया है। श्री धनखड़ ने बताया कि किसानों के लिए जो काम चौधरी देवीलाल, चौधरी चरणसिंह, देवे गोड़ा जैसे नेता नही कर पाए वह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कर दिखाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

34 − = 29