वाद विवाद प्रतियोगिता में पक्ष आसाराम व विपक्ष सोनम देवी रही अव्वल

0

वाद विवाद प्रतियोगिता में पक्ष आसाराम व विपक्ष सोनम देवी रही अव्वल

सिधौली/ सीतापुर । भारत की उन्नति के लिए महिलाओं का शिक्षित होना बहुत जरुरी है क्योंकि अपने बच्चों की पहली शिक्षक माँ ही होती है यह बात ऐम कॉलेज में आयोजित स्त्री शिक्षा की दशा व दिशा विषय पर वाद-विवाद प्रतियोगिता को संबोधित करते हुए प्राचार्या सबीला सोगरा ने बाड़ी सिधौली में कही आगे उन्होंने बताया आधुनिकता के दौर में अगर नारी शिक्षा को नजरंदाज़ किया जाता है तो देश के भविष्य के लिए यह किसी खतरे से कम नहीं होगा। एक अशिक्षित स्त्री अपने परिवार व बच्चों संस्कारवान बनाने में असमर्थ रहती है इस कारण आने वाली पीढ़ी कमज़ोर हो जाती है एक शिक्षित महिला अपने परिवार और बच्चों की जिम्मेदारी को अच्छे से निभा सकती है, उन्हें अच्छे बुरे का ज्ञान दे सकती है, सामाजिक तथा आर्थिक कार्य करके देश की प्रगति में अपना योगदान दे सकती है।

प्रतियोगिता आयोजक चंद्रशेखर प्रजापति ने बताया एक पुरुष को शिक्षित करके हम सिर्फ एक ही व्यक्ति तक शिक्षा पहुँचा पाएंगे पर एक महिला को शिक्षित करके हम पूरे देश तक शिक्षा को पहुँचा पाएंगे। महिला साक्षरता की कमी देश को कमज़ोर बनाती है। इसलिए यह बहुत जरुरी है कि महिलाओं को उनकी शिक्षा का हक़ दिया जाए और उन्हें किसी भी तरह से पुरुषों से कम न समझा जाए वाद विवाद प्रतियोगिता डी एल एड व बीएड भावी शिक्षकों ने प्रतिभागियों ने पक्ष व विपक्ष अपने – अपने अभिमत दिये प्रतियोगिता के पक्ष में आशाराम प्रथम स्थान साजिया खातुन द्वितीय स्थान तथा प्रीती यादव व दामिनी वाजपेई को तृतीय स्थान मिला। वाद विवाद प्रतियोगिता के विपक्ष में सोनम देवी को प्रथम स्थान पंकज अवस्थी द्वितीय स्थान तथा उमा पाण्डेय व अंकित कुमार को तृतीय स्थान मिला इस मौके पर शिक्षक संतोष कुमार , शिक्षक योगेश मिश्रा , साहनुर जेबा , अंशु सिंह, चांदनी दीक्षित, हिरनी देवी, प्रीतीष्मा सिंह, कुबरा, शिवांगी राठौर, भव्या शुक्ला, शिवानी, मोहम्मद अल्ताफ, फुरकान अहमद, हर्षित दानिश अजीज आदि लोग उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 + 7 =