राजस्थान में भी बसपा के साथ गठबंधन की तैयारी में है इनेलो, अभय चौटाला ने जयपुर में की नेताओं से बातचीत

0

4 जुलाई 2018
संजय पांचाल रोहतक(हरियाणा)
 
हरियाणा में एक साथ चुनाव लड़ने से पहले इंडियन नेशनल लोकदल और बहुजन समाज पार्टी पड़ोसी राज्य राजस्थान में मिलकर विधानसभा चुनाव लड़ सकते हैं। इनेलो की तरफ से इस दिशा में कोशिश और पहल शुरू कर दी गई है। राजस्थान में विधानसभा चुनाव इसी साल नवंबर-दिसंबर में होने हैं।

बीते दिनों इनेलो नेता अभय सिंह चौटाला ने जयपुर में इस विषय को लेकर राजस्थान के अपनी पार्टी के नेताओं के साथ विचार विमर्श किया। जयपुर के वैशाली नगर इलाके के एक होटल में हुई इस चर्चा में राज्य में पार्टी नेतृत्व को सक्रिय करने के अलावा जरूरी बदलाव करने और बसपा के साथ गठबंधन पर बातचीत हुई। इस बैठक में राजस्थान में इनेलो की तरफ से विधायक रह चुके कुछ नेता भी शामिल थे।

हरियाणा में दोनों ही दल अगले लोकसभा और विधानसभा चुनावों के लिए गठबंधन घोषित कर चुके हैं और साथ में जनसभाएं भी कर रहे हैं। इनेलो को बसपा के साथ राजस्थान में भी गठबंधन की उम्मीद इसलिए है क्योंकि वहां भी भाजपा या कांग्रेस के साथ बसपा का लम्बे समय से कोई तालमेल नहीं रहा है। मौजूदा विधानसभा में वहां बसपा के 3 विधायक हैं जबकि इनेलो के पास वहां कोई सीट नहीं है। हालांकि पिछली विधानसभाओं में राजस्थान में लोकदल के विधायक बनते रहे हैं।

इनेलो की छात्र इकाई इनसो भी राजस्थान में सक्रिय रहती है और दुष्यंत चौटाला कई मौकों पर जयपुर व हरियाणा की सीमा से सटे शहरों में कार्यक्रम करते रहते हैं। अजय चौटाला का पूरा परिवार ही लगातार राजस्थान के लोगों के सम्पर्क में रहता है।

इनेलो नेताओं का मानना है कि राजस्थान में कांग्रेस और भाजपा के अलावा कोई अन्य मजबूत दल या धड़ा ना होने के चलते उनके संभावित गठबंधन के लिए लोगों में अच्छा रूझान हो सकता है। वहीं राजस्थान के बसपा नेता फिलहाल ऐसी किसी प्रगति से अनजान हैं लेकिन उनका कहना है कि शीर्ष नेतृत्व ही इस बारे में फैसला लेगा।

खुद चौधरी देवीलाल राजस्थान से चुनाव लड़ते रहे और सीकर से सांसद भी बने। अजय सिंह चौटाला भी राजस्थान विधानसभा के सदस्य रह चुके हैं। चौटाला परिवार की राजस्थान में रिश्तेदारियां भी हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

− 3 = 1