मोरनी गैंगरेप मामले में महिला को भेजा गया नारी निकेतन, जान को खतरा कहने पर हाईकोर्ट का संज्ञान

0
Online Hindi news paper khabren apne nagar ki
Online Hindi Newspaper: खबरें अपने नगर की

27 जुलाई 2018
संजय पांचाल रोहतक(हरियाणा)

मोरनी के बहुचर्चित गैंगरेप मामले में बड़ा और नया मोड़ आ गया है। चंडीगढ़ पुलिस ने गैंगरेप पीड़िता नारी निकतन भेजा गया है।

बता दें कि कल आरोपी के पति इरफान को पंचकूला पुलिस ने पहले पूछताछ के लिए बुलाया था, लेकिन बाद में गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के मुताबिक आरोपी पति ने ही गैंगरेप पीड़िता को वैश्यावृति के धंधे में धकेला था।

मामला 19 जुलाई का है, जब 22 वर्षीय युवती ने 40 अलग-अलग लोगों द्वारा गैंगरेप करने का आरोप लगाया था। पीड़िता के मुताबिक आरोपी सन्नी उसे झाडू़ लगाने की नौकरी के बहाने मोरनी इलाके में गेस्ट हाउस में लेकर गया था और यहां पर उसके साथ चार दिनों तक अलग-अलग 40 लोगों ने गैंगरेप किया था।

पीड़िता के मुताबिक आरोपी सन्नी ने उसे नशीला पदार्थ दिया था जिसके बाद उसके साथ अलग-अलग लोगों ने गैंगरेप किया। पीड़िता ने बताया कि वो कैसे ही छूटकर वहां से आई और पुलिस को सूचना दी।

पीड़िता ने कुछ पुलिसकर्मियों पर भी आरोप लगाए थे। जिसके बाद तुरंत कार्रवाई करते हुए मोरनी थाना इंचार्ज, महिला पुलिस एएसआई समेत चार पुलिसकर्मियों को सस्पेंड किया गया था, वहीं महिला थाना SHO का भी तबादला कर दिया था।

इस मामले में एक 50 रुपये का नोट भी सामने आया था जिसमें किसी पुलिसकर्मी के नंबर होने का दावा किया गया था, लेकिन बाद में नोट पर लिखा नंबर भी किसी पुलिसकर्मी का नहीं निकला।

हालांकि इस मामले में पुलिस ने तत्पर कार्रवाई करते हुए चंडीगढ़ के मनीमाजरा थाने से हरियाणा पुलिस के पास केस ट्रांसफर करवा लिया था और मामले में सीसीटीवी के आधार पर कई आरोपियों को गिरफ्तार भी कर लिया था।
लेकिन कल अचानक मामले में नया मोड़ आ गया, जब पुलिस ने मुख्य आरोपी सन्नी की कॉल रिकोर्डिंग के आधार पर पीड़िता के पति से पूछताछ की। पीड़िता के पति ने पुलिस के सामने सारे राज उगल दिये, जिसके बाद पुलिस ने आरोपी इरफान को गिरफ्तार कर लिया और कोर्ट में पेश किया जिसके बाद 3 दिन के रिमांड पर भेजा गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

78 + = 82