मुगालते में न रहें विपक्षी दल- राष्ट्रीय सवर्ण एकता संघ

0
रिपोर्ट प्रताप तिवारी हरगाँव
हरगांव (सीतापुर) एस सी /एस टी एक्ट के विरोध पर देश के विपक्षी दल इस भ्रम में न रहें कि सर्वण समाज एस सी/एस टी एक्ट के विरोध के चलते आगामी चुनावों में विपक्ष का समर्थन करेगा । आने वाले चुनाव तक अगर इस एक्ट में किये गये संशोधन को वर्तमान केन्द्र की सरकार ने वापस नहीं लिया गया तो आम चुनाव में सर्वण समाज या तो नोटा दबायेगा या फिर राष्ट्रीय सवर्ण एकता संघ के बैनर के तले आने वाले उम्मीदवार को सवर्ण समाज अपना समर्थन देगा ।
उक्त उद्गार हरगांव के समाजसेवी लवकुश शुक्ल के आवास पर पधारे राष्ट्रीय सवर्ण एकता संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष पं० सत्यम तिवारी व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल राय ने प्रेस वार्ता के दौरान व्यक्त किये ।
आवास पर राष्ट्रीय सवर्ण एकता संघ के राष्ट्रीय नेतृत्व के आवास पर आने के बाद सर्व प्रथम लवकुश शुक्ल ने माल्यार्पण कर राष्ट्रीय नेतृत्व का स्वागत किया । उसके बाद सभासद प्रतिनिधि सुभाष जोशी सुधांशु पाण्डेय गोलू ज्ञानेन्द्र पाण्डेय प्रताप तिवारी ने माल्यार्पण कर स्वागत किया। तत्पश्चात राष्ट्रीय अध्यक्ष व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ने सवर्ण एकता संघ प्रदेश महा सचिव ज्ञानेन्द्र पाण्डेय का माल्यार्पण कर उनसे आशीर्वाद प्राप्त किया।
शुक्ल के आवास पर आये राष्ट्रीय अध्यक्ष व उपाध्याय ने लवकुश शुक्ल को जनपद सीतापुर का राष्ट्रीय सवर्ण एकता संघ का प्रभारी व अकबरपुर लोकसभा सीट के संचालन समिति का संयोजक / आयोजक मनोनीत किया वहीं पं०सत्य नारायण अवस्थी को जिला प्रचारक/ सह जिला महामंत्री व सुधांशु पाण्डेय गोलू को धौरहरा लोकसभा के मीडिया प्रभारी की जिम्मेदारी सौपी।
नेता द्वय ने कहा कि केन्द्र सरकार ने अगर संशोधित एक्ट को तत्काल वापस नहीं लिया तो सर्वण समाज सभी राजनीतिक दलों का वहिष्कार करते हुए उन्हें क्षेत्र में घुसने नहीं देगा।इस बीच विपक्षी पार्टियां या तो खुलकर सर्वणों का साथ दें या फिर इस मुद्दे पर राजनीति न करें ।
सवर्णो को बेवकूफ बनाने का जो काम सत्तापक्ष व विपक्ष मिलकर अपनी वोट-बैंक की खातिर कर रहा है, अब सर्वण समाज उनकी चालों में आने वाला नहीं हैं।
नेता द्वय ने वार्ता के दौरान के दौरान कहा राष्ट्रीय सवर्ण एकता संघ सर्वण समाज के पिछडो कमजोर तबके के लोगों की रक्षा के लिये बना है यह पूछने पर कि क्या यह संगठन ब्रम्हणों का है इस पर जवाब देते हुये राष्ट्रीय नेतृत्व ने बताया कि यह संगठन ब्रम्हण क्षत्रिय वैश्य के साथ सवर्ण समाज के अन्य वर्ग को शामिल करते हुये यह संगठन तैयार किया गया है । आज SC/ST एक्ट जैसा काला कानून व आरक्षण इस देश के लिये अभि शाप है आरक्षण के चलते इस देश की शिक्षित प्रतिभाशाली क्रीम विदेश पलायन कर रही है और उनसे विदेशी लोग अपना फायदा उठा रहे हैं । वर्तमान हालत तो यह हो गयी है कि योग्यता के आधार को दर किनार कर जाति देख कर नौकरी दी जा रही है जिसके कारण ही आये दिन देश में ओवर ब्रिज हादसे पुल हादसे हो रहे हैं ।
राष्ट्रीय उपाधय्क्ष ने कहा कि सवर्ण समाज ने तो कभी भी किसी का उत्पीड़न शोषण नहीं किया बल्कि जो जिस लायक था उसे उसी लायक कार्य देकर उसका मान बढाया जैसे बाबा साहेब डा०भीमराव अम्बेडकर की योग्यता को देखकर उनसे संविधान तैय्यार कराकर उनका सम्मान किया।
उन्होंने कहा कि घर घर से एक एक कार्य कर्ता सवर्ण एकता संघ के लिये तैयार कर संघ को मजबूती प्रदान करना हम लोगों का मुख्य उद्देश्य है।आज आपसी एकता न होने के कारण ही 77% सवर्ण समाज को नजरन्दाज कर 23% समाज का केन्द्र सरकार ने साथ देकर सवर्ण समाज पर एससी एसटी एक्ट में संशोधन कर काला कानून थोप दिया । केन्द्र सरकार ने केवल वोट बैंक के खातिर SC/ST एक्ट में संशोधन कर माननीय सर्वोच्च न्यायालय के आदेश की अवहेलना कर संविधान लाकर कर SC/ ST एक्ट लागू कर दिया ।और केन्द्र सरकार ने आर्थिक आधार पर आरक्षण समान आचार संहिता धारा 370 पर संविधान में संशोधन लाना उचित नहीं समझा । अब हम सबको सवर्ण एकता संघ को मजबूत कर अपने स्वाभिमान की रक्षा करना है।
लवकुश शुक्ल ने कहा कि जब देश से घुसपैठियों को निकालने की हिमाकत चल रही थी तब ओवैशी सहित चुनिंदा राजनैतिक दल खुलकर उसका विरोध कर रहे थे और आज एकता न होने के कारण 77% सवर्णों पर थोपे गये काले कानून का किसी भी विपक्षी दल ने विरोध नहीं किया अब समय आ गया कि जो सवर्ण हित की बात करेगा सवर्ण समाज उसका साथ देगा।
राष्ट्रीय नेतृत्व ने कहा कि आगामी लोक सभा चुनाव में सीतापुर धौरहरा मिश्रिख सहित पन्द्रह सीटों पर संगठन अपना प्रत्याशी उतारेगा।
राष्ट्रीय नेतृत्व ने कहा कि अक्टूबर माह से सीतापुर पर अधिक समय व ध्यान दिया जायेगा।
उन्होंने सभी का आभार जताते हुए कहा है कि इस लडाई में सर्वण हित में देश के सभी सर्वण जातीय संगठनों का भी सहयोग लिया जायेगा। लडाई अब आर पार की होगी ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

+ 37 = 43