पाली में डिजीप्लेक्स तकनीकी पर आधारित अस्थाई सिनेमा घर का जिलाधिकारी ने किया उद्घाटन

0
Online Hindi news paper khabren apne nagar ki
Online Hindi Newspaper: खबरें अपने नगर की

*पाली में डिजीप्लेक्स तकनीक पर आधारित अस्थाई सिनेमा घर का जिलाधिकारी ने किया* *उद्घाटन: September* *24, 2018*

*ललितपुर* जिले के कस्बा पाली में आज आधुनिकतम डिजीप्लैक्स तकनीक आधारित, पूर्णतया वातानुकूलित अस्थायी सिनेमाघर का विधिवत उद्घघाटन जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह द्वारा किया गया।

इसके द्वारा, ग्रामीण जनता के मनोरंजन को आर्थिक विकास से जोड़ने की पिक्चर टाइम तथा कनेक्ट कंसल्टेन्ट्स की मिली-जुली योजना के तहत उत्तर प्रदेश में सबसे पहला अस्थाई सिनेमाघर पाली में शुरू किया है फिलहाल इसे स्थाई सिनेमाघर की अनुमति 3 माह के लिए दी गई है पिक्चर टाइम की उत्तर प्रदेश की सीईओ सौम्या चंद्रा ने फ़ास्ट न्यूज़ को बताया कि यह पूरी एक श्रंखला है फिलहाल उड़ीसा में हमारे लगभग एक दर्जन सिनेमाघर चल रहे हैं ।

उत्तर प्रदेश में पाली कस्बे में हमारा यह पहला प्रयास है ।

पहले दिन और पहले शो में हमें जनता का अच्छा रिस्पांस मिल रहा है।

हम इसमें मनोरंजक पिक्चरों के साथ साथ सरकार की योजनाएं किसानों को लाभान्वित करने वाली विज्ञापन और पिक्चर भी प्रदर्शित करेंगे ।

पिक्चर टाइम का शुभारंभ करने आए जिलाधिकारी ललितपुर ने कहा कि फिल्मेंलोगों का अच्छा संदेश देती है । साफ स्वच्छ फिल्में देखने से लोगों का सामाजिक विकास होता है।
इसके बाद जिलाधिकारी मानवेंद्र सिंह , एसडीएम विधेश कुमार ने पिक्चर टाइमहॉल में प्रवेश कर स्क्रीन पर भारत सरकार द्वारा संचालित स्वच्छता अभियान से सम्बंधित एक कार्यक्रम देखा ।

यूपी में पहली बार कस्बा पाली में शुरू हो चुकी पिक्चर टाइम की तारीफ की ।

कनेक्ट कंसल्टेंट्स की सीईओ सौम्या चंद्रा ने बताया कि आधुनिकतम तकनीक और उपकरणों से लैस ट्रक को कहीं भी ले जाया जा सकता है और फिलहाल इसमें 70 से 75 लोगो के बैठने कीव्यवस्था है लेकिन यह बढा कर 125-150 लोगों तक भी की जा सकती है।

पूर्णतया वातानुकूलित अस्थायी सिनेमाघर तीन घंटे के अंदर किसी भी स्थान पर स्थापित किया जा सकता है।

सिनेमाघर, फ़ुल स्क्रीन पर दूरसंचार के माध्यम से नई से नई पिक्चर दिखाने की सुविधा से युक्त है, जिसे वाईफाई तथा इंटरनेट से भी जोड़ा जा सकता है। ‘पिक्चर टाइम’ सूचना तथा संचार का एक माध्यम है जिसका इस्तेमाल, कृषि तथा सिंचाई से संबंधित तकनीकी विकास के बारे में और शिक्षा, स्वास्थ्य तथा रोज़गार से संबंधित विभिन्न योजनाओं के बारे में ग्रामीण जनता को शिक्षित करने के लिए भी किया जा रहा है। अत्याधिक पिछड़े क्षेत्रों में डिस्टेंट लर्निंग के द्वारा कन्या शिक्षा के क्षेत्र में पिक्चर टाइम का माध्यम कारगर सिद्ध हो रहा है।
कनेक्ट कंसल्टेंट्स के सीएफ़ओ शोभित चंद्रा ने बताया कि ग्रामीण जनता के हितों को तथा फिल्मों की रायल्टी को ध्यान में रखते हुए टिकट दरें न्यूनतम होती हैं। योजनागत व्यय को विज्ञापनों के ज़रिए जुटाने की कोशिश की जाती है।

सौम्या चंद्र ने बताया कि इस सिनेमा घर में पिक्चर देखने पर टिकट लगभग 70 से ₹75 रखी गई है ग्रामीण क्षेत्रों में और इतने पिछडे क्षेत्र में ₹75 की टिकट लेकर कितने लोग इस सिनेमाघर में पिक्चर देखने जाएंगे इस पर जरूर संशय बना हुआ है।

फिलहाल कौतूहल बस शुरुआती दौर में तो अच्छी खासी भीड़ सिनेमाघर खींचने में जरूर सफल होगा ।

इस मौके पर सूचना अधिकारी पियूष राय कांग्रेस नेता संजीव चौरसिया और लक्ष्मण पाट कार भी उपस्थित रहे ।

*रिपोर्ट हरीराम पाल पथराई महरौनी*

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

6 + 1 =