देश की भौतिक प्रगति में विश्वकर्मा समाज का बड़ा योगदान : ओमप्रकाश धनखड़

0

1 जुलाई 2018
संजय पांचाल रोहतक(हरियाणा)

विश्वकर्मा जांगिड़ धर्मशाला, माछरौली के स्थापना समारोह में बोले कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़

बादली के विकास में विपक्ष की सरकारों के दस-दस साल पर भाजपा के पौने चार साल को बताया भारी 

झज्जर, हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ने कहा कि भारत की भौतिक प्रगति में विश्वकर्मा समाज का बड़ा योगदान रहा है। हरियाणा की भाजपा सरकार ने युवाओं के कौशल विकास के लिए भगवान विश्वकर्मा के नाम पर स्किल डेवल्पमेंट यूनिवर्सिटी भी स्थापित की है। उन्होंने रविवार को गांव माछरौली में विश्वकर्मा जांगिड़ धर्मशाला के पहले स्थापना दिवस कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कही। इस अवसर पर उन्होंने धर्मशाला के निर्माण के लिए दोबारा 11 लाख रुपए की वित्तीय सहायता देने की घोषणा भी की। इससे पहले भी उन्होंने शिलान्यास के समय धर्मशाला निर्माण के लिए 11 लाख रुपए ऐच्छिक कोष से दिए थे। हरियाणा पिछड़ा वर्ग आयोग के चेयरमैन रामचंद्र जांगड़ा व दिव्यांगजन आयोग के आयुक्त दिनेश शास्त्री भी इस अवसर पर उपस्थित रहे।

श्री ओमप्रकाश धनखड़ ने बादली विधानसभा क्षेत्र में कराए गए विकास कार्यों को लेकर पूर्व की कांग्रेस व इनेलो की सरकारों को सीधी चुनौती दी। उन्होंने कहा कि उन दलों की दस-दस साल सरकार रही लेकिन बादली हलके का सबसे ज्यादा विकास हरियाणा में भाजपा की सरकार बनने के उपरांत हुआ। उन्होंने कार्यक्रम में उपस्थित लोगों से भी विपक्षी दलों की सरकारों के 10-10 वर्ष तथा वर्तमान सरकार के पौने चार वर्ष के कार्यकाल में हुए विकास की तुलना करने की अपील की। उन्होंने कहा कि बादली विधानसभा में ग्रामवार विकास परियोजनाओं पर उनके नाम के पिछली सरकार की तुलना में अधिक पत्थर लगे हैं। उन्होंने धर्मशाला को निर्माण तेज करने की बात कहते हुए कहा कि माछरौली की धर्मशाला सबसे सुंदर एवं भव्य बननी चाहिए। 

हरियाणा पिछड़ा वर्ग आयोग के चेयरमैन रामचंद्र जांगड़ा ने कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ को राज्य का ऐसा होनहार नेता बताया जिसकी पहचान राष्ट्रीय स्तर पर होती है। उन्होंने विश्वकर्मा समाज को रचनाकार, शिल्पकार व स्वाभिमानी बताया। उन्होंने प्लास्टिक इंजीनियरिंग के लिए सी-पेट मुरथल में अनुसूचित जाति व पिछड़ा वर्ग के बच्चों के लिए चलाए जा रहे छह-छह माह के कोर्स के बारे में भी जानकारी दी तथा कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को अपने बच्चों को यह कोर्स कराने की अपील की। उन्होंने कहा कि देश में प्लास्टिक इंजीनियरिंग के क्षेत्र में हुनरमंद लोगों की बड़ी मांग है। उन्होंने कहा कि समय के साथ ट्रेंड बदलता है ऐसे में हम सबको भी अब समय के साथ चलना चाहिए। इससे पहले कार्यक्रम में मेरे यार सुदामा रे गीत गाने वाली छात्रा रितु जांगड़ा ने अपनी प्रस्तुति दी। आयोजकों की ओर से अतिथिगण को स्मृति चिन्ह भी भेंट किए।

इस अवसर पर विश्वकर्मा जांगिड़ समाज के अध्यक्ष शेर सिंह, सेवानिवृत सेशन जज जय सिंह जांगड़ा, भाजपा नेता आनंद सागर, नरेंद्र जाखड़, रामकिशन, प्रदीप जांगड़ा, प्रवीण जांगड़ा, माछरौली के सरपंच जितेंद्र, लेखराम, जोगेंद्र आदि उपस्थित रहे। 

संत गरीब दास फाउंडेशन की ओर से हुआ पौधरोपण

संत गरीब दास फाउंडेशन की ओर से विश्वकर्मा जांगिड़ धर्मशाला के स्थापना दिवस कार्यक्रम के दौरान पौधरोपण भी किया गया। कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ओमप्रकाश धनखड़, पिछड़ा वर्ग आयोग के चेयरमैन रामचंद्र जांगड़ा, दिव्यांगजन आयोग के आयुक्त दिनेश शास्त्री सहित विश्वकमा जांगिड़ समाज के विशिष्टजनों व धर्मशाला निर्माण समिति के सदस्यों ने पौधे लगाकर पर्यावरण संरक्षण का संकल्प लिया। संत गरीब दास फाउंडेशन से आनंद सागर ने जानकारी देते हुए बताया कि फाउंडेशन की ओर से इस सीजन में 1008 पौधे लगाने का संकल्प लिया गया है। इन पौधों को लगाने के साथ-साथ उनकी देखभाल की जिम्मेवारी भी निर्धारित की जा रही है। पर्यावरण संरक्षण के लिए संस्था की इस पहल को कृषि मंत्री ने प्रशंसनीय बताया। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

+ 2 = 8