डा विनीता प्रजापति वेदान्शी काव्य संगोष्ठी में सम्मानित

0

डा विनीता प्रजापति वेदान्शी काव्य संगोष्ठी में सम्मानित
संवाददाता चंद्रशेखर प्रजापति
भोपाल। मध्य प्रदेश | युवाओं की प्रेरणा स्रोत तुम ही हो , सृजन का गान है तुमसे । कीर्ति चारों ओर विकसित है, कौन अनजान है तुमसे। विद्वता और बल पौरूष का , तुम अद्भुत समन्वय हो। विनीता में तेज है दिनकर सा , अंधेरा भागता तुमसे। यह बात “कादम्बिनी एवं न्यू लक्ष्य पाँच दिवसीय पुस्तक उत्सव 2019″ के अवसर पर भोपाल में कयवित्री डॉ विनीत प्रजापति को सम्मानित करते हुए बतौर मुख्य अतिथि ने कहीं आगे उन्होंने बताया कर्मठ, ईमानदार तथा हिंदी साहित्य के प्रति निष्ठा रखने वाले का सदैव सम्मान किया जाता है उत्कृष्ट, वैचारिक ,संप्रेषण, दूरदर्शी, युवा वर्ग के चरित्र निर्माण के दृढ़वृती, निर्वसन ,निरापद, निश्चिंत, निश्छल , निर्लोभी , निष्कलुय डॉ विनीता प्रजापति नारी सशक्तिकरण को बढ़ावा देने के साथ-साथ सामाजिक कार्यकत्री भी हैं डॉ विनीता प्रजापति करने की हैं । पिछले गरीब सी तालुकात रखने वाली बेटियों के लिए एक प्रेरणा स्रोत हैं। बुलंद हौसलों चट्टानी इरादों के बूते विनीता ने बदली है अपनी तकदीर कहते हैं हौसले भी किसी हकीम से कम नहीं होतें हर तकलीफ में ताकत की दवा देते हैं। ” हिन्दी भवन मे चर रहे पाँच दिवसीय काव्य आज “कादम्बिनी एवं न्यू लक्ष्य पाँच दिवसीय पुस्तक उत्सव 2019″ के अवसर पर तीसरे दिन काव्य संगोष्ठी का आयोजन किया गया है। जिसका शुभारम्भ पंचायती एवं ग्रामीण विकास विभाग मंत्री कमलेशवर पटेल ने किया। संगोष्ठी में भोपाल के वरिष्ठ साहित्यकारों आदरणीय दादा कवि धूमकेतु जी, ने अपनी कविता ” पाच साल के लिऐ चुनेगे फिर से तुमको प्यारे कौन होते है। लल्लू पंजू तुम्हे हराने वाले” सुनाई इसी तरह कवि कमलेश बंसल ने अपनी कविता बादशाह बने कोई कोई सुल्तान बन गऐ” माँ की दुआ लगी तो इन्सान बन गऐ और डाक्टर विनीता प्रजापति ने तेरी याद बहुत सताती है माॅ आज भी मुझे नींद नहीं आती है माॅ सुनाई। और करूण श्रीवास्तव ने कविता आयो बसन्त ॠतु पढी और डाक्टर रेखा भटनागर जी ने वतन को स्वर्ग बनाना है दृष्टिकहीनो को मंजिल तक पहुँचाना है। कवि यश धुरदर ने जब जब तुमने चाहा हमने मुंह का कोर खिलाया खुद काटो पर सोऐ फूल पर तुम्हे सुलाया। आदरणीय राकेश वर्मा हैरत जी, आदरणीय दिनेश प्रभात जी, आदरणीय मनोहर पटेरिया मधुर जी, आदरणीय जगदीश श्रीवास्तव जी की जोर दार प्रस्तुती पर खूब तालिया बटोरी फिर सभी कवि कवयित्रीयो का सम्मान किया गया। सभी अन्य सम्माननीय जनों का काव्यपाठ हुआ उसके बाद मध्यप्रदेश शासन में मंत्री माननीय कमलेश्वर वर पटेल जी के द्वारा सम्मान स्वरूप स्मृति चिन्ह।। डाक्टर विनीता प्रजापति को अपनी अनोखी रचनाओं के कारण सम्मानित किया गया जिसका उन्होंनें सबका आभार व्यक्त करते हुऐ अपनी खुशी भी बाया की। भारत वर्ष से पधारी कवयित्रीओ को उनके साहित्य उत्कृष्ट कार्य हेतु सम्मानित किया गया। कवयित्रीओ को स्मृति चिन्ह, शालॅ , सम्मान पत्र, पुष्पमाला देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में भारतवर्ष से पधारे अनेक सख्या मे कवि कवयित्री , मिडिया पत्रकार आदि उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

+ 59 = 67