जिलावासियों को एक ही छत के नीचे मिलेगी सभी सेवाएं-डॉ. यश गर्ग

0

29 सितम्बर 2018
रोहतक÷【संजय पांचाल】

आगामी दो माह में संचालित होगा अंत्योदय भवन

मौजूदा समय में सरल केन्द्रों से दी जा रही है सेवाएं

तेजी से की जा रही है पानी की निकासी

पायलेट प्रोजेक्ट के रूप में सांपला में होगी ई-गिरदावरी

रोहतक सेवा के अधिकार नियम के तहत नागरिकों को समयबद्ध सेवाएं उपलब्ध करवाना प्रशासन की जिम्मेदारी है और इस दिशा में तेजी से कार्य किया जा रहा है। उपायुक्त डॉ. यश गर्ग आज लघु सचिवालय के कांफ्रैंस हाल में एक संवाददाता सम्मेलन को सम्बोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि जिला मुख्यालय पर अगले दो माह में अन्तोदय भवन संचालित कर दिया जाएगा, जहां पर लोगों को एक ही छत के नीचे सभी सेवाएं उपलब्ध होंगी। अन्तोदय भवन पासपोर्ट कार्यालय की तर्ज पर बनेगा और इसके निर्माण पर लगभग 50 लाख रूपए की राशि खर्च होगी। इसमें नागरिकों के लिए बैठने की व्यवस्था होगी, प्रतिक्षा कक्ष होगा और हेल्पडेस्क भी बनाया जाएगा।

उपायुक्त ने कहा कि मौजूदा समय में लोगों को सेवाएं प्रदान करने के लिए लघु सचिवालय में सरल केन्द्र कार्य कर रहा है। इसके अलावा उपमंडल व तहसील स्तर पर सरल केन्द्र संचालित किए गए हैं, जहां पर 37 विभागों की लगभग 300 सेवाएं लोगों को उपलब्ध करवाई जा रही है।

डॉ. गर्ग ने कहा कि जिला प्रशासन का लक्ष्य सेवाओं को 300 से बढ़ा कर 600 तक ले जाने का है और उससे भी आगे प्रयास रहेगा कि सीएचसी स्तर पर इन सभी सेवाओं को उपलब्ध करवाया जाए। उन्होंने कहा कि सरल डेशबोर्ड भी बनाया गया है और इसके माध्यम से ऊपरी सतह तक कार्यों की मॉनिटरिंग हो रही है। डेशबोर्ड से यह पता चल जाता है कि किसी विभाग के पास कौन सी तिथि को कितने आवेदन आए और उन पर क्या कार्रवाई हुई।

हाल ही में हुई बारिश की वजह से जलभराव की स्थिति का जिक्र करते हुए डॉ. गर्ग ने कहा कि पानी की निकासी का कार्य दिन-रात किया जा रहा है और अधिकारियों को इस संबंध में स्पष्ट दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। उन्होंने बताया कि पानी की निकासी के लिए 102 इलैक्ट्रिक पंप सैट लगाए गए हैं जिनके माध्यम से रोजना 383 क्यूसिक पानी निकाला जा रहा है।

इसी प्रकार से 32 डीजल पम्प सैटों के माध्यम से 200 क्यूसिक पानी की निकासी की जा रही है। उन्होंने कहा कि पानी की निकासी में कोई बाधा न आए इसके लिए 31 बिजली फीडरों की सप्लाई बढ़ाई गई है और मांग के अनुरूप डीजल पम्प सैट उपलब्ध करवाए जा रहे हैं। इनके अलावा स्थाई पम्प सैट भी लगे हुए हैं जिनके माध्यम से 700 क्यूसिक पानी की निकासी की जाती है। कुल मिलाकर रोजाना लगभग 1100 क्यूसिक पानी का निकास किया जा रहा है।

उपायुक्त ने कहा कि बारिश की वजह से जिला का लगभग दस हजार हैक्टेयर कृषि क्षेत्र प्रभावित हुआ है, जिसमें बाजरा व कपास की फसल का अधिक नुकसान होने की आशंका है। उन्होंने कहा कि धान की फसल को भी नुकसान पहुंचा है और उसे बचाने का प्रयास किया जा रहा है। 10 से 60 प्रतिशत तक फसलों को नुकसान पहुंचा है। डॉ. गर्ग ने कहा कि एक अक्तूबर से नियमित गिरदावरी की जाएगी। सांपला तहसील में ई-गिरदावरी का कार्य पायलेट प्रोजेक्ट के रूप में शुरू किया गया है।

डॉ. गर्ग ने कहा कि फसल अवशेष प्रबंधन को लेकर प्रधानमंत्री कार्यालय, मुख्यमंत्री कार्यालय व मुख्य सचिव स्तर पर मॉनिटरिंग की जा रही है। उन्होंने बताया कि नए निर्देशानुसार जिला में कस्टम हायरिंग सैंटर की संख्या 30 से बढ़ाकर 50 कर दी गई है और अब तक 28 सीएचसी को 262 लाख रूपए की सब्सिडी जारी की जा चुकी है।

इसके अलावा व्यक्तिगत मामलों में 89 किसानों को 33.57 लाख रूपए की सब्सिडी दी गई है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने छोटे व मध्यम दर्जे के बिजली उपभोक्ताओं को सस्ती दरों पर बिजली उपलब्ध करवाने का निर्णय लिया है। इसके अलावा बिजली की खपत कम करने के उद्देश्य से उपभोक्ताओं को सस्ती दरों पर एलईडी बल्ब, टयूब व पंखे उपलब्ध करवाए जा रहे हैं।

उपायुक्त ने बताया कि जिला प्रशासन द्वारा 29 सितम्बर को स्थानीय विकास भवन में सर्जिकल स्ट्राइक दिवस कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। इस कार्यक्रम में सहकारिता मंत्री मनीष कुमार ग्रोवर मुख्यअतिथि के रूप में भाग लेेंगे। कार्यक्रम में सर्जिकल स्ट्राइक पर तैयार की गई लगभग 20 मिनट की फिल्म भी लोगों को दिखाई जाएगी। संवाददाता सम्मेलन में एसीयूटी विश्राम वीणा भी मौजूद थे।
——–

जिला उपायुक्त डॉ. यश गर्ग

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

− 6 = 3