जय गुरुदेव ने स्वच्छता एवं समाज सुधार का दिया संदेश। 

0

बाबा जय गुरुदेव की सत्संग का आयोजन छत्रपाल धाम अलीपुर पेड़रा।

 

  1. जय गुरुदेव ने स्वच्छता एवं समाज सुधार का दिया संदेश।

 

संवाददाता चंद्रशेखर प्रजापति।

 

बिसवा/ सीतापुर। कितना महक रहा है पसीना हुनर का खुशबू से भरा रहता है सीना हुनर का सबको मिलेगी मुक्ति मगर एक शर्त पहले बसा लो दिल में करीना हुनर का, यह बात बाबा जयगुरुदेव जी महाराज के जन जागरण अभियान के तत्वाधान में तीन दिवसीय नूरानी जिस्मानी अलौकिक , पारलौकिक, अध्यात्मिक सत्संग समारोह के में बाबा छत्रपाल धाम कोठी बाजार अलीपुर पेड़रा तहसील बिसवां जिला सीतापुर में कई हजारों की संख्या में उपस्थित सत्संगी प्रेमियों को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा समाज में स्वच्छता के लिए सतत प्रयास करना चाहिए और खुले में शौच जाने की कुप्रथा को समाप्त करना चाहिए और यदि घर पर व्यवस्था नहीं है तो खुले में मल नहीं छोड़ना उसे मिट्टी से ढक देना चाहिए जिससे वायु प्रदूषण और बीमारियां ना फैले और स्वामी जी ने बताया प्रत्येक व्यक्ति को स्वावलंबी बनना चाहिए। दूसरे से सेवा की आशा नहीं रखनी चाहिए ऐसे में मनुष्य में आलस्य आता है। वहीं यदि मनुष्य दूसरे के प्रति सेवा भाव रखता है तो कर्मठ बनता है सच्चा सत्संग व संत के न मिलने से लोगों का चरित्र व खानपान बिगड़ जाता है। लूट-खसोट, ठगी, हिसा व हत्या जैसे अपराध बढ़ जाते हैं। सत्संग सुनने से मनुष्य के जीवन में निखार आता है। समाज को सुधारने के लिए पूज्य गुरु बाबा जय गुरुदेव ने अभियान चलाया था। उनके अभियान को आगे बढ़ाने का निरंतर प्रयास किया जा रहा है। संत सम्मेलन आयोजित कर लोगों को अच्छे समाज का निर्माण करने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। इंसान को सदाचारी होना चाहिए। शाकाहार से ही सदाचार अपनाया जा सकता है। शराब व अन्य बुद्धिनाशक नशे का सेवन करने से व्यक्ति की बुद्धि नाश हो जाती है। हड़ताल, तोड़फोड़, आंदोलन, धरना, घेराव, हिसा, हत्या व आत्महत्या जैसी बुराईयां व्यक्ति को समाज में नीचे ढकेलती है। किसी की भी निदा व बुराई नहीं करनी चाहिए। सच्चे भक्त की तरह राष्ट्र व समाज की सेवा करनी चाहिए।

बाबा जय गुरुदेव के सत्संग में बतौर मुख्य अतिथि के रूप में बिसवां विधानसभा क्षेत्र के विधायक महेंद्र यादव सत्संग पुण्य प्राप्त किया और बाबा के दर्शन किए सत्संग के अंतिम दिन स्वामी जी ने सत्संगी प्रेमियों से निवेदन किया दुनिया भर को शाकाहारी‍ जीवन जीने का संदेश देना है स्वामी जी ने अपने भक्तों को समाजसेवा ने गरीब लिए प्रेरित किया जिसमें स्वच्छता, प्रदूषण से मुक्ति के उपाय पॉलिथीन की कम से कम करने की एवं मतदाता जागरूकता बाबा ने निशुल्क शिक्षा-चिकित्सा, दहेज रहित सामूहिक विवाह, आध्यात्मिक साधना, मद्यपान निषेध, शाकाहारी भोजन तथा वृक्षारोपण पर विशेष बल दिया। सभी शाकाहारी जीवन अपनाएं यही बाबा जय गुरुदेव की अपील है।

सत्संग आयोजक राम नरेश प्रजापति ने बताया तहसील विसावा कार्यक्रम पहली बार तीन दिवसीय मथुरा के विश्वविख्यात परम पूज्य संत बाबा जयगुरुदेव जी महाराज के परिवर्तन किए गए वादों एवं वचनों को सुनने समझने के लिए बाबा छत्रपाल धाम कोठी बाजार अलीपुर पेड़रा तहसील बिसवा जिला सीतापुर मे कराया गया जिसमें राज्य में एवं जिलों से कई हजारों की संख्या में सत्संगी प्रेमी उपस्थित आए हैं बाबा जयगुरुदेव महाराज के अमृत वचनों से अवगत कराया। उन्होंने कहा कि मनुष्य को जीवन में सदाचार व शाकाहार अपनाना चाहिए। किसी जीव की हत्या कर उसे भोजन के रूप में खाना राक्षसी प्रवृत्ति है। मांस भक्षण व नशे की लत से मनुष्य अपने ही स्वरूप को बदल चुका है। इसी से आए दिन समाज व देश में अपराध की घटनाएं सुनने व देखने को मिलती है। बाबा जयगुरुदेव ने सदाचार और शाकाहार का अभियान देशभर में चलाकर करोड़ों लोगों को शाकाहारी बनाकर हजारों जीवों की रक्षा की है। सत्संग के दौरान उन्होंने लोकतंत्र के महापर्व को लेकर मतदान का संदेश दिया। इस दाैरान राम नरेश प्रजापति मनोहर लाल प्रजापति श्री राम प्रजापति रामलखन चौरसिया श्रीकांत मिश्रा राजेश कनोजिया राम गोपाल गुप्ता अमर सिंह यादव महेश प्रजापति सुनीता प्रजापति नौमी लाल प्रजापति परस राम प्रजापति रमाकांत आदि तमाम लोग उपस्थित रहे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

+ 24 = 26