ऑनर किलिंग पर बनाया जाए सख्त कानून-प्रतिभा सुमन-कहा, बलात्कार के दोषियों की तर्ज पर मिले सजा

0

12 अगस्त 2018
रोहतक÷【संजय पांचाल】

ऑनर किलिंग की घटना को लेकर आयोग आहत

आयोग व जिला प्रशासन ने किया अंतिम संस्कार

जिला प्रशासन की ओर से एसडीएम ने दी श्रद्धांजलि

रोहतक, हरियाणा महिला आयोग की अध्यक्ष श्रीमती प्रतिभा सुमन ने ऑनर किलिंग के मामलें में विशेष कानून बनाने की मांग की है। श्रीमती सुमन आज रामबाग श्मशानघाट में ऑनर किलिंग के चलते मारी गई ममता के अंतिम संस्कार के बाद मीडिया कर्मियों से बातचीत कर रही थी। उनके साथ आयोग की उपाध्यक्ष प्रीति भारद्वाज, सदस्य इंदु यादव व सोनिया अग्रवाल भी मौजूद थी।
श्रीमती सुमन ने कहा कि जिस प्रकार से हरियाणा सरकार ने 12 वर्ष तक की लड़कियों के साथ बलात्कार के मामलें में दोषियों को फांसी की सजा का प्रावधान किया है ठीक उसी तर्ज पर ऑनर किलिंग के दोषियों के लिए भी सख्त से सख्त सजा का प्रावधान किया जाये। उन्होंने कहा कि हरियाणा में ऑनर किलिंग के मामलें ज्यादा है और इन पर अंकुश लगाने के लिए विशेष कानून बनाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि ऑनर किलिंग को विशेष अपराध भी घोषित किया जाये। उन्होंने कहा कि सरकार को इस संबंध में विशेष कानून बनाने के लिए विचार विमर्श करना चाहिए।
महिला आयोग की अध्यक्ष ने ऑनर किलिंग का शिकार हुई ममता व एएसआई महेंद्र को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि ऑनर किलिंग को रोकने के लिए जहां समाज को रूढि़वादी विचारधारा से बाहर निकलना होगा वही महिलाओं को उनकी निजी स्वतंत्रता प्रदान करनी होगी। उन्होंने लोगों से अपील की कि वे जाति, रंग, धर्म व मत के आधार पर एक दूसरे से भेदभाव न करें और न ही हीन भावना रखे। बल्कि बिना शर्त के प्यार को स्वीकार करें और कानून की पालना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि जब भी परिवार, पडोस व समाज में इस तरह के कथित अपमान के मामलें सामने आते है तो उन्हें प्रतिष्ठा का प्रश्न न बनाया जाये।
हरियाणा महिला आयोग की चेयरपर्सन ने कहा कि राज्य की महिलाओं का संक्षरण, सुरक्षा व उनके अधिकारों को लेकर आयोग सर्तक है। उन्होंने कहा कि अपमान के नाम पर ममता की निजी स्वतंत्रता और उसकी इच्छा अनुसार जीवन साथी के चयन के अधिकार को छीनने की घटना की महिला आयोग कड़ी निंदा करता है। उन्होंने कहा कि जिन परिस्थितियों में एक जवान लडक़ी की हत्या की गई है उसे लेकर महिला आयोग बेहद दुखी है।
प्रतिभा सुमन ने कहा कि राज्य की एक युवा लडक़ी को अपनी गरिमा व सम्मान की लड़ाई लड़ते हुए अपना जीवन खोना पड़ा। क्योंकि वह अपनी पसंद के एक युवक के साथ रहना चाहती थी और लगभग एक वर्ष पहले ही शादी की थी। उन्होंने कहा कि एक महिला का पूरे सम्मान के साथ संस्कार हो इसलिए महिला आयोग व जिला प्रशासन ने ममता का संस्कार किया है। उन्होंने यह भी कहा कि महिला आयोग प्रदेश की सभी लड़कियों व महिलाओं के साथ खड़ा है।
इससे पहले महिला आयोग की पदाधिकारियों ने ममता के पार्थिव शरीर पर पुष्प रखकर उन्हें श्रद्धांजलि दी। जिला प्रशासन की ओर से अंतिम संस्कार के दौरान एसडीएम राकेश कुमार व पुलिस के अधिकारी भी उपस्थित रहे। इस अवसर पर विभिन्न संस्थाओं के पदाधिकारियों के अलावा भाजपा महिला मोर्चा की जिला अध्यक्ष कुसुम राणा, राजरानी शर्मा, सुनीता सेन, बाबा, नेहा, जिला रैडक्रास सोसायटी के सचिव देवेंद्र चहल, जगमती सांगवान व डॉ. रणबीर दहिया समेत अनेक गणमान्य लोग उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

8 + 2 =