एनकाउंटर से पूर्व बिच्छू व अन्य ने राजेश भारती व बिदरो के साथ दिल्ली में कई बार ली थी शरण

0

2 जुलाई 2018
संजय पांचाल रोहतक(हरियाणा)

– पुलिस की पूछताछ में सामने आईं उक्त बातें

– क्रांति गैंग का सदस्य है पचास हजारी देवेंद्र बिच्छू, पुलिस ने दो दिन पूर्व ही किया था गिरफ्तार

– गिरोह में नए सदस्यों को जोड़ने में लगा था देवेंद्र

रोहतक(हरियाणा)दिल्ली एनकाउंटर से पूर्व कई बार वारदातों को अंजाम देने के बाद बिच्छू व अन्य बदमाश दिल्ली में राजेश भारती, संजीत बिदरो के पास जाकर छिपते थे। सीआईए-2 द्वारा पकड़े गए क्रांति गैंग के सदस्यों ने पुलिस पूछताछ में कई चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। कोर्ट के आदेश पर पचास हजारी देवेंद्र बिच्छू और उसके दो साथियों को पुलिस ने जेल भेज दिया है।
दो दिन पूर्व ही सीआईए-2 ने पचास हजार के इनामी देवेंद्र बिच्छू व उसके दो साथियों को गिरफ्तार किया था। तीनों क्रांति गैंग से जुड़े हुए थे। तीनों ने सांपला व कलानौर में लूट व रंगदारी की वारदात को अंजाम देना भी स्वीकार किया था। सीआईए-2 तीनों आरोपियों को रिमांड पर लेकर पूछताछ कर रही थी।
सूत्रों के अनुसार, आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि दिल्ली एनकाउंटर से पूर्व देवेंद्र व उसके साथियों ने संजीत बिदरो व राजेश भारती के साथ दिल्ली में लिए गए फ्लैट में दस से अधिक बार रुके थे। एक लूट की वारदात के बाद भी सीधे गिरोह के सदस्य फ्लैट पर ही पहुंचे थे। इसके अलावा देवेंद्र गिरोह में प्रतिदिन नए सदस्यों को जोड़ने में लगा था।

राजेश भारती उपलब्ध कराता था हथियार
पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि गिरोह के सदस्यों को राजेश भारती ही हथियार उपलब्ध कराता था। यही नहीं, किसी वारदात को अंजाम देने के बाद खाने-पीने का इंतजाम करने की जिम्मेदारी भी राजेश भारती की ही होती थी। कई बार पुलिस के सामने से गिरोह के सदस्य निकले। मगर दिल्ली में पुलिस उन्हें नहीं पकड़ सकी थी।

9 जून को एनकाउंटर में मारे गए राजेश और बिदरो
दिल्ली की स्पेशल सेल ने 9 जून को एनकाउंटर में क्रांति गैंग के सरगना गैंगस्टर राजेश भारती, संजीत बिदरो, उमेश समेत चार बदमाशों को मार गिराया था। गिरोह के पांच सदस्य मौके से फरार हो गए थे। पुलिस फरार सदस्यों की तलाश में जुटी थी मगर सफलता हाथ नहीं लग सक थी।

कहीं रोहतक में ही तो नहीं ली थी शरण
दिल्ली एनकाउंटर के दौरान फरार होने के बाद क्रांति गैंग के सदस्यों द्वारा रोहतक में ही आकर शरण लिए जाने की आशंका जताई जा रही है। हालांकि देवेेंद्र व गिरोह के अन्य सदस्यों ने पूछताछ में यह खुलासा नहीं किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

80 + = 84