अपने अभिनय का लोहा मनवा रहे रोहतक के नन्हे बच्चे

0

15 अक्टूबर 2018
रोहतक÷【संजय पांचाल】

रोहतक। एंड्रॉयड फोन और कंप्यूटर के पिंजरों से बाहर निकल कर जब बच्चे अध्यात्मिक मंचों पर अपनी उपस्थिति दर्ज करवाते हैं तो ऐसे पल बहुत सुकून देते हैं। ऐसे ही कुछ दृश्य आजकल शहर में विभिन्न मंचों पर होने वाले रामलीला में देखे जा सकता है।

जहां पेशेवर कलाकारों के साथ छोटे-छोटे बच्चे भी अपनी प्रतिभा से देखने वालों को दांतो तले उंगलियां दबाने को मजबूर कर देते हैं। हम बात कर रहे हैं आईटीआई ग्राउंड, लोकल रामलीला या पंजाबी रामलीला ग्राउंड की। तीनों ही जगह यह नन्हे मुन्ने बच्चे अलग अलग रूपों में प्रभु श्री राम के मंचन को चार चांद लगा रहे हैं।

पंजाबी रामलीला ग्राउंड में पिछले तीन सालों से भाग ले रहे 14 वर्षीय प्रथम ग्रोवर और 15 वर्षीय वासु हुड़िया इस समय क्लब का अहम हिस्सा बन चुके हैं। मंचन का कोई भी दिन ऐसा नहीं जाता जो उनके बिना पूरा हो सके। इस सब को देख कर जहां इन बच्चों के परिवार वाले खुश होते हैं। वही देर रात तक अभिनय करने के बाद सुबह जागने की टेंशन भी उनके दिमाग में रहती है।

पायल ग्रोवर बताती हैं कि ऐसे मंचों पर अपने बच्चों को देख कर काफी अच्छा महसूस होता है, लेकिन थोड़ी सी टेंशन पढ़ाई और बच्चों के स्वास्थ्य को लेकर भी होती है पर सुकून भी मिलता है कि कुछ समय के लिए सही मोबाइल और कंप्यूटर से बच्चों का पीछा तो छूट जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

11 − = 9