अंतरराष्ट्रीय सेमीनार हरियाणा में की जाएंगी सम्मानित डाक्टर विनीता प्रजापति वेदान्शी।

0

अंतरराष्ट्रीय सेमीनार हरियाणा में डाक्टर विनीता प्रजापति वेदान्शी होंगी सम्मानित।

संवाददाता चंद्रशेखर प्रजापति

भोपाल / मध्य प्रदेश।  आज के समय में महिलाएं देश के विकास में पुरूषों के बराबर योगदान कर रही हैं सामाजिक, राजनीतिक ,आर्थिक, धार्मिक, क्षेत्रों में सभी प्रकार की बाधाओं को पार करते हुए निरंतर प्रगति की ओर आगे बढ़ रही हैं भोपाल की रहने वाली कवयित्री हिन्दी भाषा में लेखन के क्षेत्र में डाक्टर विनीता प्रजापति वेदान्शी तेजी से आगे बढ़ रही हैं। इन दिनों बुंदेली फाग विमर्श की एक नई आंच परोसती डॉ विनीता प्रजापति” वेदान्शी ” ईसुरी फाग की छिपी पहचान मुक्ति का एक नया व्याकरण गढ़ने में मशगूल है उनके द्वारा लिखी गयी पुस्तक : बुंदेली ईसुरी फाग में माता पिता का बचपन से साया उठ जाने के कारण गरीबी का दंश झेल रहे बुंदेली भाषा में फाग गुनगुनाने वाले ईश्वरी फाग की छिपी हुई पहचान व प्रतिभा को अपनी पुस्तक के माध्यम से जनमानस के सामने प्रस्तुत किया है इसी अद्वितीय पुस्तक के लिए मध्य प्रदेश से चयनित कर 24 मार्च 2019 को टान्टरी विश्वविद्यालय एवं गुगनराम एजुकेशनल एण्ड सोशल वैलफेयर सोसायटी। हरियाणा मे अंतरराष्ट्रीय सेमीनार में सम्मानित किया जाऐगा। टान्टरी विश्वविद्यालय एवं गुगनराम एजुकेशनल एण्ड सोशल वैलफेयर सोसायटी की जारी सूचना के अनुसार डाक्टर विनीता प्रजापति वेदान्शी को उनकी लिखी पुस्तक बुन्देली एवं ईसुरी का फाग साहित्य नामक पुस्तक हेतु राज्य स्तर चयनित किया गया है एव उनके साहित्य क्षेत्र में शानदार योगदान के लिए के लिये यह सम्मान 24 मार्च में अंतरराष्ट्रीय कार्यक्रम मे प्रदान किया जाऐगा। सम्मान समारोह कार्यक्रम अंतरराष्ट्रीय सेमीनार मे भिवानी हरियाणा में अगामी 24 मार्च 2018 को आयोजित किया जाएगा। इस अंतरराष्ट्रीय सेमीनार सम्मान समारोह में देश विदेश भर से साहित्यकार लेखक भाग लेगे। इस अंतरराष्ट्रीय सेमीनार आयोजित होने वाले सम्मान समारोह में भोपाल की लोकप्रिये साहित्य के क्षेत्र की महत्वपूर्ण स्थान रखने वाली युवा साहित्यकार डाक्टर विनीता प्रजापति वेदान्शी को राज्य स्तरीय चयनित किया गया है। डाक्टर विनीता प्रजापति वेदान्शी को साहित्य एवं समाज के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य हेतु पहले भी कई राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सम्मानित किया जा चुका है। इन्हे नारी रत्न सम्मान, अंतरराष्ट्रीय साहित्य शिरोमणि सम्मान, श्रीमती गिना देवी अंतरराष्ट्रीय दैदीप्यमान साहित्य रत्न, अटल साहित्य भूषण सम्मान, कल्पना चावला मेमोरियल अवार्ड, आइकॉन अवार्ड, श्रेष्ठ युवा रचनाकार सम्मान, श्रेष्ठ कवयित्री सम्मान, नारी शाक्ति सम्मान, साहित्य भूषण सम्मान, प्रतिभाशाली रचनाकार सम्मान, हिन्दी सागर सम्मान, श्रेष्ठ शिक्षक सम्मान, नारी रत्न सम्मान जैसे विशिष्ट अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय सम्मानों से नवाजी जा चुकी है। इतनी छोटी उम्र में इन्होंने अनेको साहित्य के क्षेत्र के विशिष्ट सम्मान प्राप्त किये हैं। ये नारी शाक्ति का उदाहरण है आज डॉक्टर विनीता प्रजापति ने पुरानी विचारों बदल रही हैं उन्हें प्रजापति समाज की महिला होने का गर्व महसूस होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

+ 58 = 61